अनुसूचित जाति आयोग के उपाध्यक्ष ने सदस्य संग किया तहसील का निरीक्षण


 हरिद्वार। उत्तराखंड अनुसूचित जाति आयोग के उपाध्यक्ष राज्यमंत्री पीसीगोरखा एवं श्यामल कुमार सदस्य अनुसूचित जाति आयोग उत्तराखंड ने सयुक्त रूप से हरिद्वार जनपद के एक दिवसीय भ्रमण एवं निरीक्षण के दौरान भगवानपुर तहसील,आश्रम पद्धति स्कूल,आईटीआई कालेज,रुड़की तहसील कार्यालय का निरीक्षण किया। उन्होंने सबसे पहले आश्रम पद्धति स्कूल भगवानपुर का निरीक्षण किया। उपाध्यक्ष का स्वागत प्रधानाचार्य ने फूल माला एवम् साल भेंट कर किया। उपाध्यक्ष पीसीगोरखा एवं श्यामल कुमार ने निरीक्षण के दौरान राज्य के अनेक जनपदों से अध्ययन करने आये बच्चों से मुलाकात की तथा विद्यालय द्वारा दिए जाने वाली सुविधाओं का हाल जाना। इस मौके पर अभिभावकों ने बताया कि भगवानपुर क्षेत्र में अन्य विद्यालय नहीं होने से बाकी बच्चों को अध्ययन करने हेतु काफी दूर जाना पड़ता है। उन्होंने भगवानपुर तहसील कार्यालय का निरीक्षण भी किया,जहा पर उन्होंने दाखिल खारिज, आवंटित पट्टे,जाति,स्थाई, आय,प्रमाण पत्रों के जारी कराने की प्रक्रिया की स्थिति जानी,वहीं आईटीआई डेलना हरिद्वार के निरीक्षण के दौरान अनुसूचित जाति के 40 बच्चो को स्कॉलरशिप न मिलने पर नाराजगी जताई,जिसमें प्रधानाचार्य को निर्देशित किया गया कि 15 दिनों के भीतर सभी बच्चों की कागजी कार्रवाई करते हुए स्कॉलरशिप फॉर्म जमा करें तथा आयोग को करवाई से सूचित करें। इसके पश्चात् उन्होंने रुड़की तहसील कार्यालय का भी निरीक्षण किया,जिसमें चकबन्दी के मामले में सन्देह होने पर उन्होंने ज्वाइंट मजिस्ट्रेट रूड़की को निर्देश दिए कि पूरे प्रकरण की जॉच कराते हुए आयोग को अवगत कराया जाय। इस अवसर पर ज्वाइंट मजिस्ट्रेट रुड़की अभिनव शाह,एस.डी.एम भगवानपुर वैभव गुप्ता,एस.डी.एम रुड़की विजय नाथ शुक्ल,जिला समाज कल्याण अधिकारी टी.आर.मलेठा,तहसीलदार भगवानपुर गिरीश चंद्र त्रिपाठी,प्रधानाचार्य रमेश चंद्र राठी,दयाराम,ललित मोहन,प्रधान छापुर आबिद,सामाजिक कार्यकर्ता जगजीवन राम,भारत चौहान,सहित सम्बन्धित अधिकारीगण एवं ग्रामीण उपस्थित थे।