पर्यावरण की रक्षा के लिए प्लास्टिक के कैरी बैग की जगह कपड़े के कैरी बैग का करे उपयोग-जिलाधिकारी

 


हरिद्वार। जिलाधिकारी ने कहा कि पर्यावरण की रक्षा, हरिद्वार को साफ-सुथरा रखने तथा भावी पीढ़ी का ध्यान रखते हुये हमें अपनी आदतों में सुधार लाते हुये प्लास्टिक के कैरी बैग आदि के स्थान पर जूट या कपड़े से निर्मित कैरी बैग का प्रयोग करना चाहिये। जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय बुधवार को गंगा के किनारे शिव घाट पर नेशनल शिड्यूल कास्ट्स फाइनेंस एण्ड डेवलेपमेंट कारपोरेशन की ओर से कारपोरेट सोशल रिस्पांसबिलिटी(सीएसआर) मद से प्राप्त प्लास्टिक की बोतलों को क्रस(टुकड़े-टुकड़े) करने की स्थापित मशीन का पूजा-अर्चना के बीच, श्रीफल तोड़कर उद्घाटन करने के बाद संबोधन दे रहे थे। जिलाधिकारी कम्पनी के साथ स्वालम्बन एन0जी0ओ0 को यह मशीन उपलब्ध कराने के लिये धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि प्लास्टिक को क्रस करने की यह मशीन नेशनल शिड्यूल कास्ट्स फाइनेंस एण्ड डेवलेपमेंट कारपोरेशन ने सीएसआर मद से स्वावलम्बन स्वयंसेवी संस्था को भेंट की, जिन्होंने यह मशीन नगर निगम हरिद्वार को उपलब्ध कराई है। जिलाधिकारी ने मशीन के उद्घाटन के पश्चात प्रयोग के तौर पर जैसे ही प्लास्टिक की बोतलों को एक-एक करके प्लास्टिक क्रस करने वाली मशीन में डाला, तो मशीन ने बोतल के छोटे-छोटे टुकड़े करके नीचे स्थापित ट्रे में भेज दिया। उन्होंने कहा कि  भविष्य में आवश्यकतानुसार ऐसी मशीनें जगह-जगह स्थापित की जायेंगी। श्री पाण्डेय ने लोगों का आह्वान किया कि सिंगल यूज प्लास्टिक के उत्पादों-प्लास्टिक कटलरी जैसे कांटे,प्लास्टिक के चम्मच,प्लास्टिक के चाकू, प्लास्टिक के गिलास,प्लास्टिक का स्ट्रो, प्लास्टिक की प्लेट,प्लास्टिक की ट्रे आदि वस्तुओं के स्थान पर हमें वैकल्पिक वस्तुओं जैसे स्टील के गिलास, कांच की बोतल, मिट्टी की बोतल आदि का इस्तेमाल करना चाहिये। उन्होंने कहा कि अभी सिंगिल यूज प्लास्टिक के सम्बन्ध में हमारा प्रचार-प्रसार का अभियान चल रहा है तथा जल्दी ही चालान आदि की कार्रवाई की जायेगी। इस अवसर पर एम0एन0ए0 दयानन्द सरस्वती, सहायक नगर आयुक्त एम0एल0शाह, नेशनल शिड्यूल कास्ट्स फाइनेंस एण्ड डेवलेपमेंट कारपोरेशन के चीफ मैनेजर गुलशन कुमार पहाड़िया, पूर्व मेयर दिल्ली सुश्री नीमा भगत, स्वावलम्बन स्वयं सेवी संस्था की अध्यक्षा सुश्री स्मृति, प्लास्टिक क्रस मशीन कम्पनी अवन्ति बिजनेश मशीन लि0 के मैंनेजर राजीव श्रीवास्तव, इंजीनियर हरकेश राठी, राजेन्द्र रस्तोगी, सुभाष शर्मा, सलोनी जैन, रमेश उपाध्याय सहित सम्बन्धित अधिकारी एवं पदाधिकारीगण उपस्थित थे।