जिलाधिकारी ने दिए मूर्ति विसर्जन के लिए प्वाइंट बनाने के निर्देश

 


हरिद्वार। जिला प्रशासन 31 अगस्त से शुरू हो रहे गणेशोत्सव को संपन्न कराने की तैयारी में जुट गया है। तैयारियों के मद्देनजर जिलाधिकारी ने नगर निगम को गणेश प्रतिमाओं के विसर्जन के लिए स्थान चिन्हित कर प्वांइट बनाने के निर्देश दिए हैं। दो वर्ष बाद बिना किसी रूकावट के होने जा रहे गणेशोत्सव को लेकर श्रद्धालुओं में भारी उत्साह है। 31 अगस्त से शुरू हो रहे उत्सव की तैयारियों को लेकर मूर्तिकार प्रथम पूज्य भगवान गणेश की विशाल प्रतिमाएं तैयार करने में जुटे हैं। धर्मनगरी में गणेशोत्सव हमेशा ही धूमधाम के साथ मनाया जाता है। सार्वजनिक पंडालों में गजानन की विशाल प्रतिमाएं स्थापित कर पूजा अर्चना के साथ सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन भी किया जाता है। जिसमें बड़ी संख्या में श्रद्धालु सम्मिलित होते हैं। दस दिनों तक चलने वाले गणेशोत्सव के संपन्न होने पर प्रतिमाओं को जुलूस के रूप में गंगा में विसर्जन के लिए ले जाया जाता है। मूर्ति विसर्जन के लिए जिला प्रशासन इस बार अलग व्यवस्था करने का जा रहा है। इसके लिए जिलाधिकारी ने नगर निगम को स्थान चिन्हित कर मूर्ति विसर्जन के लिए पॉइंट्स बनाने के निर्देश दिए हैं। जिलाधिकारी विनय शंकर पांडे ने बताया कि नगर निगम को गणेश प्रतिमाओं के विसर्जन के पहले से अधिक प्वाइंट बनाने के निर्देश दिए गए हैं। सभी प्वाइंट पर गंगाजल की व्यवस्था भी की जाएगी। जिससे श्रद्धालु आस्था के साथ गणपति विसर्जन कर सकें। किसी को भी गंगा में मूर्ति विसर्जन की अनुमति नहीं दी जाएगी। यदि कोई ऐसा करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।