शिवालयों मे गंूजते रहे हर हर महादेव के जयकारे,लगी रही श्रद्वालुओं की कतारें

 हरिद्वार। श्रावण महीने के तीसरे सोमवार को तीर्थनगरी के विभिन्न शिवालयों में श्रद्वालुओं भारी की भीड़ उमड़ी। स्थानीय लोगों के साथ कुछ कांवड़िए भी दिखाई दिए,जिन्होंने भगवान भोलेनाथ का अभिषेक किया। शिवालय मंदिर परिसर भोलेनाथ के जयकारों से गुंजायमान रहे। तीसरे सोमवार को स्थानीय श्रद्वालुओं ने शहर के विभिन्न शिवालयों में शिवलिंग का जलाभिषेक कर सुख समृद्वि की कामना की। जलाभिषेक के लिए विभिन्न शिव मंदिरों में सुबह से ही भक्तों की लंबी कतारें लगी रहीं। कहा जाता है कि भगवान शिव को सोमवार का दिन सबसे ज्यादा प्रिय है। इसलिए सोमवार को शिव की भक्ति और उनका जलाभिषेक करने पर शिव की अपार कृपा मिलती है। मान्यता है कि शिव सावन के पूरे महीने अपनी ससुराल कनखल में ही निवास करते हैं। यहीं से सृष्टि का संचालन और लोगों का कल्याण भी करते हैं। यही वजह है कि कनखल के दक्षेश्वर महादेव मंदिर में श्रद्धालुओं की लंबी कतारें लगी रहीं। दक्षेश्वर मंदिर में शिव के जलाभिषेक का खासा महत्व होता है। मान्यता है कि सावन के महीने में शिव का जलाभिषेक करने से वे सभी की मनोकामनाएं पूरी करते हैं। इसके अलावा बिल्वकेश्वर महादेव, गौरीशंकर महादेव, नीलेश्वर महादेव, दरिद्रभंजन, दुःखभंजन, तिलभाण्डेश्वर महादेव मंदिर आदि में जलाभिषेक का सिलसिला पूरे दिन जारी रहा। कुछ शिवालयों के बाहर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया था।