बुद्व पूर्णिमा के मौके पर लाखो ने लगाई गंगा मे आस्था की डुबकी

 


हरिद्वार। बुद्वपूर्णिमा के मौके पर बड़ी संख्या में श्रद्वालुओं ने हर की पैड़ी सहित गंगा के विभिन्न घाटों पर गंगा मे आस्था की डुबकी लगाते हुए सुख समृद्वि की कामना की। इस दौरान सुरक्षा के खास इंतजामात किये गये थे। स्नान का सिलसिला तड़के प्रारम्भ हुआ जो देर शाम तक जारी रहा। सोमवार को बुद्ध पूर्णिमा पर गंगा स्नान करने के लिए श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ी। श्रद्वालुओं ने नगर के विभिन्न गंगा घाटो पर गंगा स्नान कर मन्दिरों मे पूजा अर्चना की। सूर्योदय से पहले ही हरकी पैड़ी समेत हरिद्वार के अधिकांश गंगा घाटों पर श्रद्धालुओं की भीड़ स्नान के लिए जुटनी शुरू हो गई थी। देश के कोने-कोने से आए लाखों श्रद्धालुओं ने गंगा में आस्था की डुबकी लगाई। पुलिस प्रशासन की माने तो सायंकाल तक बारह लाख से अधिक श्रद्वालुओं ने गंगा स्नान किये। मान्यता है कि बुद्ध पूर्णिमा पर गंगा स्नान करने से विशेष पुण्य फल मिलता है। सोमवार को हरिद्वार में श्रद्धालुओं की भीड़ को देखते हुए पुलिस द्वारा पहले से ही सुरक्षा के इंतजाम किए गए थे। गंगा स्नान के बाद श्रद्धालुओं ने देव दर्शन करने के साथ दान पुण्य आदि कर्म भी किए। बुद्ध पूर्णिमा पर जहां लोगों ने गंगा स्नान कर पुण्य अर्जित किया वहीं तीर्थनगरी के मठ-मंदिरों,आश्रम-अखाड़ों में भी विशेष अनुष्ठानों का आयोजन किया गया। गुजरात से आए मणिक भाई ने बताया कि वह चारधाम यात्रा के लिए हरिद्वार आये थे। लेकिन स्नान पर्व पर उन्हें गंगा में डुबकी लगाने का सौभाग्य प्राप्त हुआ। श्रद्धालु मयंक,सुधा,कमल मेहतो,कार्तिक आदि का कहना था गंगा स्नान से पहले जाम में फंसकर परेशानी झेली थी। लेकिन जैसे ही गंगा में डुबकी लगायी सारी थकान दूर हो गयी। स्नान पर्व पर श्रद्धालुओं की सुरक्षा के इंतजामात पर हरिद्वार एसपी सिटी स्वतंत्र कुमार ने बताया कि बैसाखी स्नान को ध्यान में रखते हुए पुलिस और ट्रैफिक पुलिस की व्यापक व्यवस्था की गई है और वाहनों को नियंत्रित करते हुए बड़े वाहनों के प्रवेश को रोक दिया गया है। उन्होंने बताया कि शहर में पहले से ही मौजूद पार्किगों में गाड़ियों को पार्क कराया जा रहा है।