लोगों के विरोध के बाद एमआरएफ सेटर दूसरी जगह पर ले जाने का निर्णय

 हरिद्वार। नगर निगम के सराय स्थित भूमि पर मटेरियल रिकवरी फैसिलिटी सेंटर बनाने का लोगों ने विरोध शुरू कर दिया है। बुधवार को सेंटर बनाने का काम शुरू किया गया था। लोगों के विरोध के चलते नगर आयुक्त और अन्य अधिकारी मौके पर पहुंच गए। भारी विरोध के चलते नगर आयुक्त ने सेंटर को अन्य स्थान पर ले जाने का निर्णय लिया। नगर आयुक्त का कहना है कि कुछ लोगों पर सरकारी कार्य में बाधा डालने का मुकदमा दर्ज कराने के निर्देश दिए हैं। बुधवार को सराय स्थित ट्रंचिंग ग्राउंउ के पीछे सार्थक नगर के पास कूड़ा डालने के लिए प्लांट के चारों तरफ तारबाड़ करने का कार्य किया जा रहा था। जैसे ही ग्रामीणों को मालूम हुआ कि यहां कूड़ा डालने के लिए प्लांट बनाया जा रहा है तो उन्होंने मौके पर हंगामा शुरू कर दिया। इसकी सूचना कर्मचारियों ने अधिकारियों को दी। जिसके बाद नगर आयुक्त दयानंद सरस्वती और संबंधित अधिकारी पुलिस लेकर मौके पर पहुंचे। ग्रामीणों को समझाने की कोशिश की लेकिन क्षेत्रीय निवासी प्लांट को दूसरी जगह शिफ्ट करने की मांग पर अड़ गए। काफी देर तक इसको लेकर मौके पर मौजूद ग्रामीणों ने हंगामा काटा। काफी देर तक चले हंगामे के बाद नगर आयुक्त ने प्लांट को दूसरे स्थान पर बनाने की बात कही तो ग्रामीणा शांत हुए। स्थानीय निवासी हाजी कासिम अंसारी,प्रतिभा,हिमांशु, अंजलि ने बताया कि आबादी के बाद भी कूड़ा का प्लांट बनाया जा रहा है। यहां पहले से प्लांट में कूड़े के बड़े-बड़े अंबार लगे हुए हैं। लेकिन अब दूसरी जगह भी प्लांट बनने से ग्रामीणों का जीना दुश्वार हो जाएगा। पहले ही कूड़े की दुर्गंध के कारण हमारा जीवन नरक जैसा बन गया है। कूड़ा लंबे समय से सड़ने के कारण अब सबमर्सिबल से भी दूषित पानी की सप्लाई हो रही है। इस दौरान मुस्तफा, दीपिका, प्रदीप यादव,राकेश मौर्य,अंजलि,छतर सिंह यादव,प्रतिभा,आशा,सुनीता, चंदर, पूनम आदि मौजूद रहे। नगर आयुक्त दयानंद सरस्वती के अनुसार प्लांट को दूसरी जगह स्थानांतरित कराने के निर्देश दिए गए हैं। मौके पर हंगामा कर सरकारी कार्य में कुछ लोगों ने बाधा पहुंचाई है,उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।