चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को ज्ञापन सौंपा

 


हरिद्वार। स्वास्थ्य विभाग के चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों ने चतुर्थ श्रेणी राज्य कर्मचारी संघ चिकित्सा स्वास्थ्य के प्रदेश अध्यक्ष दिनेश लखेडा के नेतृत्व में मुख्य चिकित्साधिकारी को ज्ञापन सौंपकर मांगों का निस्तारण करने की मांग की। इस दौरान कर्मचारियों ने विभाग के 22 कर्मचारियों को ए.सी.पी का लाभ दिए जाने हेतु आभार भी व्यक्त किया। प्रदेश अध्यक्ष दिनेश लखेडा व जिला मंत्री राकेश भँवर ने सीएमओ को 9 सूत्रीय मांग पत्र सौपते हुए कहा कि पांच वर्षो से कर्मचारी आवासों में रंगाई, पुताई, मरम्मत आदि कार्य नहीं हुआ है। अधिकारी कर्मचारी की वर्षो पुरानी सीवर लाइन जर्जर एवं छोटी होने के कारण सीवर चोक होने के कारण पूरे परिसर में गंदा पानी बह रहा है। जिससे आवासीय परिसर के कर्मचारियों के परिवार को संक्रमित होने का खतरा बना हुआ है। चतुर्थ श्रेणी कर्मियों के चिकित्सा प्रतिपूर्ति  के बिल कई वर्षों से लंबित है और प्री-अॅेडिट हो चुके हैं। यात्रा भत्ता बिल निकाला नही जाता है। सी.एम.ओ. कार्यालय में चैकीदार नहीं होने से कर्मचारियों को 12 घंटे की ड्यूटी करनी पड़ रही है और अवकाश भी नहीं मिल पा रहा है। कर्मचारियों की ग्रीष्म कालीन और शीतकालीन वर्दी का शासनादेश होने के बाद भी आज तक वर्दी का भुगतान नहीं किया गया है। स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों के योग्य आश्रितों को विभागीय नियुक्ति में योग्यता अनुसार वरीयता मिले, खानपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के कर्मचारियों एक दिन के रूके हुए वेतन का भुगतान किया जाए। सीएमओ डा.कुमार खगेंद ने कर्मचारियों को आश्वासन देते हुए कहा कि सीवर लाइन, आवासों की रंगाई पुताई, मररमत का कार्य शीघ्र कराया जाएगा। चतुर्थ श्रेणी कर्मियों के चिकित्सा प्रतिपूर्ति, यात्रा भत्ता बिल,एक दिन के वेतन भुगतान के लिए महानिदेशक और जिलाधिकारी महोदय को पत्र तैयार कर तत्काल प्रस्तुत करने के निर्देश लेखा लिपिक को दिए और कहा कि इस संबंध में वे स्वयं महानिदेशक और जिलाधिकारी महोदय से मिलकर जल्द निस्तारण कराया जाएगा।सीवर लाइन, आवासों के संबंध में मुख्य विकास अधिकारी से वार्ता कर जल्द निस्तारण किया जायेगा। ज्ञापन देने वालों में धर्म सिंह, अर्जुन सिंह, कामेंद्र, कमल, संजय, पप्पू सैनी, पंकज आदि शामिल रहे।