हिन्दू जागरण मंच के बैनर तले विभिन्न सामाजिक संगठनो ने किया एसएसपी कार्यालय का घेराव

 


हरिद्वार। हिंदू जागरण मंच के प्रदेश अध्यक्ष कृष्ण सिंह बोरा के नेतृत्व में मंगलवार को अनेक सामाजिक संगठनों के सहयोग एवं समर्थन से वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक हरिद्वार के कार्यालय का घेराव किया। पिछले काफी समय से हरिद्वार जनपद में घट रही हिंदू उत्पीड़न धर्मांतरण एवं गौ-हत्या की घटनाओं पर हरिद्वार पुलिस द्वारा कार्यवाही ना किए जाने एवं अपराधियों को संरक्षण देने के विरोध में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक हरिद्वार का घेराव किया तथा कार्रवाई न होने पर आगे की रणनीति की घोषणा की गई। प्रदेश अध्यक्ष कृष्ण सिंह बोरा ने अपने संबोधन में निम्न घटनाओं का उल्लेख किया जिस कारण से वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक हरिद्वार का घेराव किया गया। 21 मार्च को झबरेड़ा कोतवाली के अंतर्गत कोटवाल आलमपुर में हुई घटना पर दर्ज एफआईआर नंबर 0170 पर पुलिस द्वारा प्रभावी कार्यवाही के विपरीत अभी तक लूट का सामान बरामद नहीं किया गया तथा लूट तथा हत्या के प्रयासों की धाराओं को हटा कर आरोपियों को राहत देने तथा अपराधियों का मनोबल बढ़ाने का कार्य किया गया। 08 अप्रैल को हिंदू जागरण मंच के प्रदेश स्वावलंबन प्रमुख विजेंद्र चैधरी के सर पर जानलेवा हमले पर रानीपुर कोतवाली में दी गई तहरीर पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। 21 फरवरी को ब्रहम पाल सिंह पुत्र पहलाद निवासी भटसैनी जिला हापुड़ द्वारा डाक द्वारा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक हरिद्वार को अपने नाबालिग पुत्र गौरव पुत्र ब्रह्मपाल सिंह को कलियर शरीफ दरगाह में धर्मांतरण करने की जानकारी देने एव अभी तक कोई कार्रवाई ना करने एवं धर्म परिवर्तन करवाने में संलिप्त लोगों को संरक्षण देने का कार्य किया। हरिद्वार जनपद में सलेमपुर गढ़ मीरपुर सिकरोड़ा हजारा ग्रांट आदि दर्जनों गांव गौ-हत्या का केंद्र बन गए पुलिस के संरक्षण के बिना यह संभव नहीं है पुलिस को सूचना देने पर भी पुलिस कार्रवाई नहीं करती है। उपरोक्त कुछ प्रकरणों के अतिरिक्त अनेकों ऐसी घटनाएं हैं जिनमें पुलिस का संरक्षण प्राप्त कर अपराधी हिंदुओं का धर्मांतरण उत्पीड़न गौ-हत्या आदि कराने के कार्य में लगे हुए हैं। पुलिस द्वारा अपराधियों के संरक्षण के परिणाम स्वरूप ही गत दिनों रुड़की के डाडा जलालपुर शोभा यात्रा पर हमला किया गया तथा पुलिस द्वारा हमला करने वालों पर कठोर कार्रवाई नहीं की गई। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि उत्तराखंड सरकार द्वारा इस प्रकार की घटनाओं पर कड़ी कार्रवाई के निर्देशों के बावजूद भी पुलिस प्रशासन का यह व्यवहार पुलिस अपराधी गठजोड़ की ओर संकेत करता है। हिंदू जागरण मंच उपरोक्त घटनाओं में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया पीएफआई की संलिप्तता की गहन जांच की मांग करता है। हिंदू जागरण मंच उपरोक्त घटनाओं पर निष्पक्ष तथा कठोर कार्रवाई की मांग करते हुए अपराधियों को संरक्षण देने वाले अधिकारियों पर कार्यवाही की मांग भी करता है। यदि प्रशासन कार्यवाही सुनिश्चित नहीं करता है तब हिंदू जागरण मंच 25 अप्रैल को पूरे प्रदेश में हरिद्वार पुलिस प्रशासन का पुतला जलाकर विरोध दर्ज करेगा तथा 02 मई को पुलिस मुख्यालय का घेराव करेगा। विरोध के आगे की योजना की घोषणा 02 मई को ही की जाएगी। घेराव करने वालों में प्रमुख रूप से प्रदेश उपाध्यक्ष नाथीराम सैनी,प्रदेश मंत्री संजय चैहान,प्रदेश संयोजक स्वावलंबन आयाम विजेंद्र चैधरी, प्रदेश संयोजक युवा वाहिनी मनीष चैहान,जिलाध्यक्ष जोध सिंह, महानगर अध्यक्ष चंद्रप्रकाश,महानगर महामंत्री रुद्र मन,जिला उपाध्यक्ष संजीव पाल,शशि पाल,राहुल बंसल,युवा वाहिनी जिलाध्यक्ष स्वतंत्र,अनूप पाल,लोकेश,मनीष कंबोज,राहुल सिंघल,भानु त्यागी,राजकुमार, धर्मवीर,विवेक कौशिक,अमित कश्यप,अंकित,विशाल भारद्वाज शर्मा,मनीष,आदित्य तोमर,नितिन, हिमांशु,अंकित,विजय,शुभम,मोनू आदि सैकड़ों कार्यकर्ता उपस्थित रहे। सहयोगी संगठन भैरव सेना,नवनिर्माण क्रांति दल,वीर भगत सिंह सेवा मिशन,कश्यप एकता क्रांति मिशन, महर्षि कश्यप राष्ट्रीय युवा मंच, राष्ट्रीय हिंदू मंच राष्ट्रीय रूद्र सेना आदि रहे।