यौन शोषण के आरोपियो को हिरासत मे लेने को लेकर भाजपाईयो का कोतवाली मे हंगामा

 हरिद्वार। नाबालिग का यौन शोषण कर उसका वीडियो वायरल करने के आरोप में हिरासत में लिए गए तीन आरोपियों को छुड़ाने की मांग को लेकर भाजपाइयों ने शुक्रवार देर रात कोतवाली ज्वालापुर में जमकर हंगामा किया। भाजपाई कोतवाली के बाहर दरी बिछाकर धरने पर बैठ गए। देर रात जब पुलिस के समझाने पर भाजपाई नहीं माने तो फिर उन्हें नाबालिग का आरोपियों द्वारा बनाया गया वीडियो दिखाया, जिसे देखकर शर्मसार हुए भाजपाई चंद मिनट में ही धरने से उठकर खिसक गए। ये भाजपाई भाजपा के एक विधायक के समर्थक बताए जाते हैं। वहीं, पुलिस ने कार्रवाई करते हुए तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है, जिनमें दो नाबालिग और एक बालिग है। शुक्रवार देर शाम एक व्यक्ति ने ज्वालापुर कोतवाली पहुंचकर पुलिस को बताया कि उसका बेटा आठवीं क्लास का छात्र है। जिसका यौन शोषण करते हुए वीडियो बनाया गया। फिर उस वीडियों को वायरल कर दिया गया। नाबालिग से जुड़ा मामला होने के चलते तुरंत हरकत में आई पुलिस ने तीनों आरोपियों को हिरासत में ले लिया। इधर आरोपियों की पैरवी के लिए पहुंचे भाजपा विधायक के एक समर्थक ने कोतवाली प्रभारी महेश जोशी से आरोपियों को छोड़ देने का दबाव बनाना चाहा। लेकिन कोतवाली प्रभारी ने इंकार कर दिया। उसके बाद भाजपा नेता ने अपने साथियों को कोतवाली बुला लिया और मेन गेट के बाहर दरी बिछाकर धरने पर बैठ गए। भाजपाई आरोपियों को छोड़ने की मांग करने लगे। हंगामे की सूचना मिलने पर एएसपी रेखा यादव मौके पर पहुंचीं। उन्होंने भी भाजपाइयों को शांत करना चाहा, लेकिन वे टस से मस नहीं हुए। आखिर में पुलिस ने जब भाजपाइयों वीडियो दिखाया तो वे शर्मसार होकर खुद ही धरने से उठकर चलते बने। कोतवाली प्रभारी महेश जोशी ने बताया कि दो आरोपी दसवीं के छात्र हैं और तीसरा आरोपी बालिग है, जिसने 12वीं तक पढ़ाई की है। पीड़ित नाबालिग के पिता की शिकायत पर उनके खिलाफ पोक्सो, चाइल्ड पोर्नोग्राफी और आईटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है।