जब पूर्व केन्द्रीय शिक्षामंत्री पहुचे वरिष्ठ पत्रकार,पार्टी कार्यकत्र्ताओं के घर


 हरिद्वार। हरिद्वार सांसद एवं पूर्व केन्द्रीय शिक्षा मंत्री डाॅ.रमेश पोखरियाल निशंक एक बार फिर अपने चिर-परिचित अंदाज मे नजर आए। कोरोना से जिन्दगी की जंग जीतने के पश्चात एक लम्बे अंतराल के बाद डाॅ0 निशंक ने आज सबेरे नगर मे बिना लाव-लश्कर व बिना सुरक्षाकर्मियो के अपने पुराने मित्र गोपाल रावत के साथ सबेरे करीब 6बजे चुपचाप जनसम्पर्क को निकल पड़े। कभी स्कूटी और कभी कार मे डाॅ0 निशंक लगभग पांच घण्टे पत्रकारो,सामाजिक कार्यकत्र्ताओ,साधु-संतो तथा पार्टी के कार्यकत्र्ताओं के घर-घर जाकर मिले। इस दौरान भाजपा मंडल मंत्री अनिल अरोड़ा भी साथ रहे। डाॅ0 निशंक डामकोठी से निकलकर सबसे पहले वरिष्ठ पत्रकार सुनील दत्त पाण्डेय तथा गोपाल रावत के साथ मिलकर गंभीर रूप से बीमार चल रहे वयोवृद्व पत्रकार सरदार रघुवीर सिंह का हाल चाल जानने उनके कनखल स्थित निवास पर पहुचे। जहा उन्होने सरदार रघुवीर सिंह के शीघ्र स्वस्थ लाभ की कामना के साथ साथ दिल्ली या ऋषिकेश स्थित एम्स हास्पिटल मे उपचार कराए जाने का आश्वासन दिया। इस बीच डाॅ0 निशंक ने कई अन्य वरिष्ठ पत्रकारो से भी फोन पर चर्चा कर कई विषयों पर विचार-विमर्श किया। यहा से डाॅ0 निशंक साधु-संतो का आर्शीवाद लेने निर्मल संतपुरा आश्रम पहुचे,जहां महंत जगजीत सिंह जी ने उनका स्वागत किया तथा शाॅल ओढाकर सम्मानित किया। डाॅ0 निशंक इसके बाद कनखल मण्डल अध्यक्ष मयंक गुप्ता व पार्षद एकता गुप्ता के निवास पर पहुचे,जहां पर मण्डल महामंत्री पुष्पराज कुशवाहा,मंत्री अनिमेष शर्मा ,आशीष नागरा आदि से चर्चा की। तथा अगामी रूपरेखा पर विचार-विमर्श किया। यह सभी कार्यकत्र्ता अचानक डाॅ0 निशंक के आने की सूचना पर जहां आश्चर्यचकित थे,वही उनकी सहदृयता व आत्मीयता सादगी देखकर गदगद भी थे। डाॅ0 निशंक के सरल व्यवहार व अपने से अभिभूत कार्यकत्र्ताओं ने उन्हे पटका माला शाॅल आदि देकर सम्मानित किया। डाॅ0 निशंक कृषि मण्डी के उपसभापति मयंक गुप्ता,ऋषिसचदेवा से भी उनके निवास स्थान पर जाकर मिले। तथा उनके परिजनो से भी भेंट कर आर्शीवाद दिया। लगभग पांच घण्टे चले सांसद महोदय के जनसम्पर्क अभियान के पश्चात डाॅ0निशंक वापस डामकोठी पहुचे,जहां से वह जिलाध्यक्ष डाॅ.जयपाल सिंह चैहान के साथ भगवानपुर के लिए रवाना हो गए। लेकिन अपने इस अनूठे अंदाज से वह कार्यकत्र्ताओं को एक सुखद अनुभूति दे गए।