सफाई कर्मचारियों ने तीन महीने के वेतन की मांग को लेकर की नारेबाजी

 हरिद्वार। नमामि गंगे के तहत हरिद्वार के गंगा घाटों पर सफाई के लिए रखे गए कर्मचारियों को जनवरी से वेतन नहीं मिला है। वेतन की मांग को लेकर सभी सफाई कर्मचारी मंगलवार को नगर निगम में एकत्र हुए। सफाई कर्मचारियों ने तीन महीने के वेतन की मांग को लेकर नारेबाजी की। सफाई कर्मचारियों के प्रतिनिधि ने नगर आयुक्त से मुलाकात कर अपनी मांगों को रखा। नगर आयुक्त के आश्वासन के बाद कर्मचारी वापस लौट गए। नगर निगम क्षेत्र के घाटों के किनारे सफाई व्यवस्था के लिए नमामि गंगे परियोजना के तहत 382 सफाई कर्मचारियों की तैनाती घाटों पर की गयी थी। लेकिन इन कर्मचारियों को जनवरी से मार्च तीन माह का वेतन नहीं मिल पाया है। वेतन न मिलने से खफा सफाई कर्मचारी मंगलवार को नगर निगम परिसर में एकत्र हुए। यहां कर्मचारियों ने अपने वेतन की मांग को लेकर नारेबाजी की। इस दौरान सफाई कर्मचारियों के प्रतिनिधि मंडल ने नगर आयुक्त दयानंद सरस्वती से मुलाकात कर तीन माह का वेतन जल्द दिलाने की मांग की। नगर आयुक्त ने सफाई कर्मचारियों को जल्द वेतन दिलाने का आश्वासन भी दिया। इस दौरान पार्षद विनित जौली, पार्षद अनिरुद्ध भाटी के अतिरिक्त काफी संख्या में सफाई कर्मचारी मौजूद रहे।