औरत मानसिक तौर पर पुरूषों से ज्यादा मजबूत-डाॅ0स्वाति मिश्रा

 हरिद्वार। अंतर्राष्ट्रीय वूमैन डे पर मंसुरी स्थित होटल स्वाय द्वारा आयोजित एक दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन होटल के केयरटेकर आदिजा, व गौतम बाली द्वारा किया गया। कार्यक्रम में महिलाओ की पुर्व व वर्तमान परिस्थितियों पर अपने विचार प्रकट करते हुए देहरादून की मनोचिकित्सक डा० स्वाति मिश्रा कशिश ने कहा औरत अगर अपनी वैल्यू को समझ ले और दूसरों से ईष्या करना छोड़ दें तो उससे पावरफुल और खूबसूरत भगवान ने कुछ नहीं बनाया। औरत अपनी पावर को और वैल्यू को पहचाने जिस दिन वह खुद को वैल्यू करना सीख जाएगी दुनिया में कोई ऐसा नहीं है। जो उसको रिस्पेक्ट और वैल्यू ना दे क्योंकि जितनी हिम्मत और ताकत दिमागी तौर पर ईश्वर ने एक औरत को बक्शी है, वह किसी और पुरूषों में नहीं है। पुरूष हार जाते हैं तो शराब सिगरेट गुटके का सहारा लेते हैं! क्या कभी औरतों को इन चीजों का सहारा लेते देखा गया है। क्योंकि औरत खुद में बहुत मजबूत होती है क्योंकि वह मानसिक तौर पुरूषों से ज्यादा मजबूत है किसी भी परिस्थिति में वह पैनिक नहीं होती। कहा कि औरत अगर अपनी अपने आंसुओं को अपनी मजबूती बना ले तो उसको कोई नहीं हरा सकता वह ईश्वर की एक अनोखी क्रिएशन है। इस अबसर कार्यक्रम के आयोजक स्वाय होटल द्वारा कार्यक्रम में भाग लेने वाली महिलाओं को स्टाल उडा कर समानित किया गया। कार्यक्रम में डा० स्वाति मिश्रा, समृति सरीन हरि, साधना जयराज, अनिता महेंदू डा० प्रिति चैधरी, सुनिता कुंडिल,, तान्या सालिया, रजनी, रूपा मारूथ, आदि ने भाग लिया।