हिन्दू जनजागरण पदयात्रा का सर्वानंद घाट पर हुआ समापन


 हरिद्वार। भड़काऊ भाषण के मामले में जेल में बंद रहे महामंडलेश्वर यति नरसिंहानंद गिरी जी व जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी के समर्थन में गाजियाबाद से आरम्भ हुई हिन्दू जनजागरण पदयात्रा शुक्रवार को सर्वानंद घाट पर पूर्ण हुई। निरंजनी अखाड़ा की महामंडलेश्वर डॉ अन्नपूर्णा भारती व यति नरसिंहानंद सरस्वती फाउंडेशन की महासचिव डॉ उदिता त्यागी के नेतृत्व में गाजियाबाद से गत 12 को आरम्भ हुई हिन्दू जनजागरण पदयात्रा का पूर्ण विराम सर्वानंद घाट पर हो गया। यह पदयात्रा जूना अखाड़ा के महामंडलेश्वर यति नरसिंहानंद गिरी जी महाराज और जितेंद नारायण सिंह त्यागी को बिना किसी गलती के जेल में रखने के विरोध में की गई थी। पदयात्रियों का संकल्प देहरादून मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के आवास पर जाकर आमरण अनशन करने का था, परन्तु महामंडलेश्वर यति नरसिंहानंद गिरी ने इसके लिये सख्ती से मना कर दिया। महामंडलेश्वर यति नरसिंहानंद ने पदयात्रियों से कहा कि अब मुख्यमंत्री आवास पर अनशन करने का कोई अर्थ नहीं है। मुख्यमंत्री अब इस मामले में कुछ नहीं कर सकते। अब यहाँ ऊर्जा व्यर्थ करने से कुछ नहीं होगा। पदयात्रियों ने उनकी बात मानकर अपनी पदयात्रा माँ गंगा के चरणों मे समाप्त कर दी। पदयात्रा में अखिल भारतीय ब्रह्मर्षि महासंघ के राष्ट्रीय कार्यवाहक अध्यक्ष सुनील त्यागी,हिन्दू महासभा के वरिष्ठ नेता अशोक पांडेय,अभिषेक गुप्ता,सनोज शास्त्री,विवेक नागर, विपिन नागर,कृष्ण भारद्वाज,शशिकांत त्यागी,उदयवीर आदि शामिल थे।