गरीबों की सहायता करना सभी का कर्तव्य-अंकित आर्य

 


हरिद्वार। हिमालयन वैदिक फाउंडेशन की और से चंडी पुल के नीचे रहने वाले गरीब निराश्रितों को भोजन प्रसाद वितरण किया गया। फाउंडेशन के अध्यक्ष पारस आनंद ने कहा कि गरीब, असहाय, निराश्रित व्यक्तियों को भोजन उपलब्ध कराना सबसे बड़ा पुण्य कार्य है और मानव सेवा ही सबसे बड़ा धर्म है। सभी को मिलजुल कर गरीब असहाय लोगों की सहायता करनी चाहिए। एकजुट होकर ही निराश्रितओं की सेवा की जा सकती है। पारस आनंद ने बताया कि फाउंडेशन की और से प्रति सप्लाह लंगर का आयोजन कर गरीब, निसहायों को भोजन प्रसाद वितरित किया जाता है। फाउंडेशन के सचिव अंकित आर्य ने कहा कि गरीब, असहाय, निर्धन परिवारों के उत्थान में मिलजुल कर ही प्रयास किए जाने चाहिए। उन्होंने कहा कि संस्था लगातार मलिन बस्तियों कालोनियों में निम्न वर्गो के परिवारों के बच्चों को निःशुल्क शिक्षा के अवसर भी प्रदान कर रही है। समय समय पर बच्चों को कापी, किताबें, पेंसिल आदि वितरित की जाती है। निस्वार्थ सेवाभाव से सभी को मानव कल्याण में योगदान करना चाहिए। इस अवसर पर विवेक शर्मा, गणेश सेमवाल, प्रिंस आर्यन, अभिषेक, कुणाल आदि कार्यकर्ता मौजूद रहे।