अन्र्तराष्ट्रीय कम्पनी कर रहे भारत की एकता,अखण्डता पर आधात,हिजामं ने की बंद करने की मांग

 हरिद्वार। हिंदू जागरण मंच के कार्यकर्ताओं ने आज प्रधान मंत्री को विदेशी कंपनियों को भारत में बंद करने की मांग को लेकर पत्र लिखा। इस अवसर पर हिंदू जागरण मंच के नगर अध्यक्ष चंद्र प्रकाश जोशी ने कहा कि आज हमारे भारत देश में वेदशी कंपनियों का प्रचलन ज्यादा देखा जा रहा है जैसे हुंदई,किया,पिज्जा हट,डोमिनो व केएफसी अंतर्राष्ट्रीय प्रतिष्ठान हैं और इनको बढ़ा़वा देने का काम बड़े बड़े उद्योगपति कर रहे है। वर्षों से भारत में अपनी व्यापार की गतिविधियां संचालित कर रहे हैं। भारत की जनता ने सहर्ष इनको स्वीकारा और इनके व्यापार को खूब लाभ पहुंचाया। परंतु ये सभी प्रतिष्ठान अपनी व्यापार की सीमा को लांघ,भारत की संप्रभुता के विषयों पर न सिर्फ टिप्पणी कर रहे हैं,बल्कि राष्ट्र की एकता व अखण्डता को प्रभावित करने की कुचेष्टा कर रहे हैं। इसी क्रम में इन प्रतिष्ठानों के पाकिस्तानी समूहों ने हाल ही में भारत के न सिर्फ वैभव, गौरव,आत्मसम्मान और संप्रभुता पर आघात किया है अपितु हमारे बलिदान होने वाले सैनिकों की शहादत को भी अपमानित करने वाला कृत्य किया है। इन प्रतिष्ठानों के पाकिस्तान स्थित समूहों ने पाकिस्तान की जनता का तुष्टिकरण करने की नीयत से पाकिस्तान द्वारा प्रायोजित आतंकवाद व अलगाव वादी शक्तियों की प्रशंसा की है और उनके प्रति अपने सहयोग की प्रतिबद्धता प्रस्तुत की है, इनका यह कृत्य न सिर्फ ना काबिले माफी अपराध है अपितु देश द्रोह भी है। भारत में विरोध होने पर इन प्रतिष्ठानों में से सिर्फ हुण्डई इण्डिया ने खेद प्रकट कर कहा‘‘ कि किसी भी भौगोलिक क्षेत्र में राजनैतिक व धार्मिक विषयों पर टिप्पणी न करना उनकी नीति है‘‘, इस खेद पत्र से उनकी बेशर्मी साफ उजागर होती है और यह भी सिद्ध होता है कि यह खेद पत्र भारत में निर्विरोध अपनी व्यापार की गतिविधियों को संचालित करने के उद्देश्य से दिया गया है क्योंकि कश्मीर हमारा कोई राजनैतिक या धार्मिक विषय नही है अपितु हमारा अभिन्न अंग है जिसको अलग करने का षड्यंत्र करने वाली शक्तियों का खुला समर्थन इन प्रतिष्ठानों ने किया है,जिसकी हम कड़ी निंदा करते हैं। ऐसे में बड़ा प्रश्न है कि क्या हम केवल अपने जनता को रोजगार देने के लिए ऐसी देश द्रोही प्रतिष्ठानों को बर्दाश्त करते रहेंगे या देश की अखंडता को प्राथमिकता दे इनका कारोबार यहां से बंद कर दें। देश के कई हिस्सों में लोकतंत्र का महापर्व अर्थात् चुनाव चल रहा है। हम लोग आदर्श आचार संहिता का नियमतः पालन करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।  भारत सरकार एवं उत्तराखंड की सरकार से अपील करते है कि चुनावों के पश्चात शीघ्र इसे संस्थानों पर कार्यवाही कर इन पर प्रतिबंध लगाने की योजना बनाई जाए। अन्यथा समय सीमा में ऐसा नहीं किया गया तो हिंदू जागरण मंच राष्ट्र के गौरव और अखंडता को कायम रखने हेतु व अखिल राष्ट्र के समाज को जगाने हेतु इन प्रतिष्ठानों के विरुद्ध आंदोलन करने को विवश होगा। ज्ञापन देने वालो में मुख्य रूप से डॉ रुद्रमन, मनीष कामबोज ,राजकुमार,आदि पधाधिकारी मोजूद रहे।