दुष्कर्म के आरोपी पिता की जमानत याचिका खारिज

 हरिद्वार। नाबालिग पुत्री से छेड़छाड़, जान से मारने की धमकी देने और दुष्कर्म करने के मामले में अपर जिला जज ध्पॉक्सो ऐक्ट न्यायधीश अंजलि नौलियाल ने आरोपी पिता की जमानत अर्जी खारिज कर दी है। शासकीय अधिवक्ता आदेश चन्द्र चैहान ने बताया कि 12 जनवरी 2022 में कोतवाली रुड़की क्षेत्र में एक 11 वर्षीय किशोरी के साथ छेड़छाड़,जान से मारने की धमकी देने व  दुष्कर्म का मामला दर्ज किया गया था। आरोप लगाया है कि बीती जनवरी में आरोपी पिता ने पुत्री के साथ छेड़छाड़ करनी शुरू कर दी थी। पीड़िता के विरोध करने के बाद भी आरोपी पिता पर उसके साथ दुष्कर्म करने का आरोप लगाया गया है। घटना के दो दिन के बाद पीड़ित किशोरी की मां ने इस संबंध में एक लिखित शिकायत कोतवाली रुड़की में दी थी। जिस पर पीड़ित किशोरी ने पुलिस व अपने परिजनों को सारी आपबीती बताई थी। इसके बाद पीड़ित किशोरी की मां ने आरोपी पति के खिलाफ  छेड़छाड़, जान से मारने की धमकी देने, शारिरिक संबंध बनाने और पॉक्सो ऐक्ट की धाराओं में केस दर्ज कराया था। पुलिस ने आरोपी पिता को गिरफ्तार कर कोर्ट में चालान पेश कर जेल भेज दिया था। मामले की सुनवाई के बाद अपर जिला जज ध्पॉक्सो एक्ट न्यायाधीश अंजलि नौलियाल ने आरोपी आरोपी पिता की जमानत अर्जी खारिज कर दी है।