संत महापुरूषों ने समाज को हमेशा नई दिशा दी है-महंत प्रेमगिरी

 


हरिद्वार। श्री पंच दशनाम जूना अखाड़ा के अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष महंत प्रेमगिरि महाराज ने कहा कि संत महापुरूषों ने समाज को हमेशा नई दिशा दी है। शिव स्वरूप संतों का संपूर्ण जीवन मानव सेवा में सहयोग व लोक कल्याण को समर्पित रहता है। उक्त उद्गार उन्होंने उत्तरी हरिद्वार स्थित भीम सिंह सेवा आश्रम में वार्षिक शिव पूजन एवं भंडारे के आयोजन के दौरान व्यक्त किये। श्री पंचदशनाम जूना अखाड़ा के अंतरराष्ट्रीय मंत्री श्रीमहंत रामगिरी महाराज ने भक्त-श्रद्धालुओं को संबोधित करते हुए कहा कि भगवान शिव की आराधना से सभी कष्ट दूर होते हैं। श्रीमहंत रामगिरी महाराज ने कहा कि संतों का कार्य समाज में सद्भाव का वातावरण बनाकर सन्मार्ग की प्रेरणा देना होता है। उन्होंने कहा कि सूक्ष्म आराधना से ही प्रसन्न होने वाले भगवान शिव भक्तों की प्रत्येक मनोकामना को पूर्ण करते हैैं। ऋषिकेश की मेयर अनिता ममगाई ने कहा कि संतों का जीवन समाज कल्याण को समर्पित होता है। संत महापुरुषों ने हमेशा समाज को नई दिशा देने का काम किया है। संत महापुरुषों के आशीर्वाद से ही सफलता का मार्ग प्राप्त किया जा सकता है। कार्यक्रम का संचालन वरिष्ठ भाजपा नेता राजपाल सिंह नेगी ने किया। इस दौरान उपस्थित संतों व श्रद्धालुओं ने भगवान शिव की पूजा अर्चना कर कोरोना से मुक्ति एवं विश्व कल्याण की कामना की। इस अवसर पर महामंडलेश्वर स्वामी हरिचेतनानंद,प्रबोधानंद गिरी,स्वामी ललितानंद गिरी,श्रीमहंत देवानंद सरस्वती, आरएसएस के विभाग प्रचार प्रमुख विपिन, धर्म जागरण समन्वयक के प्रांत सह संयोजक डा.राहुल, सेवा भारती के प्रमुख कमल पटेल, विस्तारक मोहित, बीडीसी विजय शर्मा, पंकज कुमार, डबल सिंह पंवार, मोहित लखेडा, राजेश गुप्ता, शिवदास दुबे, पंडित नारायण दत्त भट्ट, राजेश भारद्वाज, मोहित राष्ट्रवादी, मीरा राजपूत, डा.कमलेश कांडपाल, जितेंद्र, अंकित, नंदलाल आदि उपस्थित रहे।