सास की हत्यारोपी को आजीवन कारावास की सजा

 हरिद्वार। सास की गला दबाकर हत्या करने के मामले में तृतीय अपर जिला जज संजीव कुमार ने आरोपी दामाद को दोषी पाया है। कोर्ट ने दामाद को आजीवन कारावास और 20 हजार रुपये के अर्थदंड की सजा सुनाई है। अर्थदंड जमा नहीं करने पर एक वर्ष का अतिरिक्त कारावास भुगतने के आदेश दिए हैं। शासकीय अधिवक्ता कुशलपाल सिंह चैहान ने बताया कि 20 सितंबर 2019 में सिडकुल क्षेत्र में एक महिला की गला दबाकर हत्या कर दी गई थी। शिकायतकर्ता की तीन वर्षीय पुत्री भी घर से गायब मिली थी। उसी दिन शिकायतकर्ता आकांक्षा ने अपने आरोपी पति ललित सैनी पर घर में आकर उसकी मां की गला दबाकर हत्या और तीन महीने की पुत्री को ले जाने के आरोप में केस दर्ज कराया था। आकांक्षा पारिवारिक विवाद के चलते मां के साथ रह रही थी। बताया था कि घटना से एक दिन पहले आरोपी पति ललित सैनी पुत्र रामपाल सैनी निवासी मौहल्ला विश्नोई सराय थाना नगीना जिला बिजनौर यूपी ने उसे फोन कर व्हाट्सएप चलाने की बात कहकर फोन काट दिया था। थोड़ी देर बाद आरोपी फोन छीनकर ले गया और रात में जान से मारने की धमकी दी थी। सुबह शिकायतकर्ता अपने एक परिजन के साथ दवाई लेने अस्पताल गई हुई थी। तभी उनके पीछे आकर आरोपी ने वारदात को अंजाम दिया था। महिला ने मौके पर ही दम तोड़ दिया था। शिकायतकर्ता ने बताया था कि पति ललित उसकी तीन महीने की पुत्री को भी उठाकर ले गया था। सिडकुल पुलिस ने ललित को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। सरकारी पक्ष ने साक्ष्य में नौ गवाह पेश किए।