ध्यान साधना शिविर के समापन पर किया काव्य गोष्ठी का आयोजन

 


हरिद्वार। भीमगोड़ा स्थित कृष्णा कृपा धाम में आयोजित तीन दिवसीय ध्यान साधना शिविर के समापन पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों व काव्य गोष्ठी का आयोजन किया गया। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस दौरान मदन कौशिक ने कहा कि आज के भागदौड भरे जीवन में नियमित रूप से ध्यान साधना के माध्यम से सहज रूप से जीवन का आनन्द लिया जा सकता है। संत महापुरूषों के सानिध्य में आयोजित ध्यान साधन शिविर से आमजन को अवश्य लाभ प्राप्त होगा। श्री कृष्ण कृपा धाम के अधिष्ठाता स्वामी ज्ञानानंद ने जीवन प्रबंधन में भगवत गीता का महत्व एवं तनाव रहित जीवन जीने की कला बताते हुए कहा कि भगवत गीता एक ग्रंथ ही नहीं बल्कि जीवन का मैनुअल है जो संघर्षपूर्ण जीवन में मुस्कुराते हुए जीने की प्रेरणा देता है। जैसे महाभारत युद्ध में कृष्ण अर्जुन को विषाद से बाहर निकलकर कर्म करने की प्रेरणा देते हैं। प्रतिकूलता में भी कैसे मुस्कुराते हुए आगे बढ़ना है यह भगवत गीता बताती है। कार्यक्रम के आयोजक संजय हाडा ने बताया कि कार्यक्रम में पंजाब हरियाणा और दिल्ली से बड़ी संख्या में लोग शामिल रहे।