बेटों के खिलाफ अनशन शुरू करने वाले रिटायर शिक्षक को एसडीएम ने मनाया

 हरिद्वार। उपनगरी ज्वालापुर क्षेत्र में बेटों और बहू के घर से निकाल देने से खिन्न बुजुर्ग रिटायर शिक्षक ने गांधीवादी तरीका अपनाते हुए किराए पर कमरा लेकर अनशन शुरू कर दिया। बुजुर्ग के अनशन की सूचना मिलने पर जिला प्रशासन हरकत में आ गया। सूचना पाकर मौके पर पहुंचे एसडीएम पूरण सिंह राणा ने बुजुर्ग को बेटों के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन देकर अनशन तुड़वा दिया। बताया जाता है कि ज्वालापुर क्षेत्र के मोहल्ला चाकलान निवासी गौरी शंकर शर्मा रिटायर शिक्षक हैं। उनका आरोप है कि उनके बेटों और बहु ने उन्हें घर से निकाल दिया। बेटों के घर से निकाल देने से क्षुब्ध बुजुर्ग ने पास के ही पीठ बाजार में किराये पर एक कमरा लेकर गत एक नवंबर से बेटों-बहू के खिलाफ गांधीवादी तरीके से अनशन शुरू कर दिया। बुजुर्ग के अनशन करने की जानकारी स्थानीय अभिसूचना तंत्र को हुई। एलआईयू ने जिलाधिकारी विनय शंकर पांडेय को बुजुर्ग के अनशन से अवगत कराया। जिलाधिकारी के निर्देश पर एसडीएम हरिद्वार पूरण सिंह राणा बुजुर्ग से मिलने पहुंचे। एसडीएम ने बुजुर्ग की पूरी बात सुनी। बुजुर्ग की पूरी बात सुनने के बाद उन्होने आश्वासन दिया कि वे उनके बेटों के खिलाफ कार्रवाई करेंगे, जिसके बाद बुजुर्ग ने जूस पीकर अपना अनशन समाप्त कर दिया। एसडीएम पूरण सिंह राणा ने बताया कि बुजुर्ग की दो बेटियां है। एक देहरादून तो दूसरी मुजफ्फरनगर में रहती हैं और दो बेटे हैं। बताया कि बेटों को नोटिस जारी कर तलब किया जा रहा है।