श्री स्वामी नारायण आश्रम में मनाया गया अन्नकूट पर्व

 हरिद्वार। गोवर्धन पर्व के अवसर पर भूपतवाला स्थित श्री स्वामीनारायण आश्रम में अन्नकूट उत्सव मनाया गया और भगवान श्री कृष्ण को 56 प्रकार के मिष्ठान एवं पकवान से भोग लगाया गया। इस अवसर पर श्रद्धालु भक्तों को संबोधित करते हुए स्वामीनारायण आश्रम के अध्यक्ष महामंडलेश्वर स्वामी हरिबल्लभ दास शास्त्री महाराज ने कहा कि भगवान कृष्ण के गोवर्धन स्वरुप की कृपा से सभी प्रकार की प्राकृतिक आपदाओं से सुरक्षा होती है और श्रद्धा पूर्वक की गई साधना आराधना से घर में कभी भी अन्न और धन की कमी नहीं होती है। उन्होंने कहा कि देवी लक्ष्मी जिस प्रकार सुख समृद्धि प्रदान करती है। उसी तरह गोवर्धन पूजा करने से गौमाता भी अपने दूध से स्वास्थ्य रूपी धन प्रदान करती है। उन्होंने कहा कि भगवान श्री कृष्ण की लीलाएं अपरंपार हैं। ब्रज वासियों को मूसलाधार वर्षा से बचाने के लिए 7 दिन तक भगवान श्री कृष्ण ने गोवर्धन पर्वत को अपनी उंगली पर उठा कर रखा और उसकी छाया में गोप गोपीकाएं सुख पूर्वक रहे। स्वामी हरि बल्लभ दास शास्त्री महाराज ने कहा कि गोवर्धन पूजा पर गौ माता और भगवान श्री कृष्ण का संयुक्त रूप से भक्तों को आशीर्वाद प्राप्त होता है और उनकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती है। कृष्ण भक्ति का पर्व गोवर्धन पूजा भगवान श्री कृष्ण की अनुपम लीला का उदाहरण है। प्रभु श्री कृष्ण के आदर्शाे को अपनाकर प्रत्येक व्यक्ति को जीवन मैं सत्य के मार्ग पर चलना चाहिए और प्रेम भावना के साथ सभी का आदर सत्कार करना चाहिए। स्वामी आनंद स्वरूप महाराज ने कहा कि भगवान श्री कृष्ण जन-जन के आराध्य हैं। जो सभी को अपनी कृपा का पात्र बना लेते हैं। सभी को गोवर्धन की पूजा करके प्रकृति के प्रति अपनी कृतज्ञता को व्यक्त करना चाहिए और मानव सेवा के लिए समर्पित रहना चाहिए। क्योंकि मानव सेवा ही सबसे बड़ा धर्म है।