युवक की हत्या का खुलासा,चार गिरफ्रतार,लाॅज संचालक की तलाश तेज

 हरिद्वार। नगर कोतवाली क्षेत्रान्गर्त बिल्केश्वर मार्ग पर पांच सितंबर को एक अज्ञात युवक का शव बरामद होने के मामले में चार आरोपियों को गिरफ्रतार कर मामले का खुलासा कर दिया है। बताया जाता है कि उक्त युवक का शव गेस्ट हाउस में हत्याकर शव को वहा लाकर फेंक दिया गया था, शव पर किसी तरह के निशान नहीं थे, उसके हाथ पर अंकित उर्फ रोहित गुदा हुआ था। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा था। पुलिस अभी पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रही थी कि सामने आया कि युवक का शव यहां लाकर फेंका गया है। सीओ सिटी अभय प्रताप सिंह के अनुसार कोतवाली क्षेत्रान्गर्त श्रवणनाथ नगर के कबीर गेस्ट हाउस में युवक की हत्या कर शव यहां फेंका गया है। बताया कि घटना में शामिल रहे गेस्ट हाउस के मैनेजर अरुण पुत्र ओमप्रकाश निवासी मिर्जापुर किरतपुर बिजनौर, मोहित उर्फ उमेश सैनी पुत्र कृपाल सिंह सैनी निवासी रेहड बिजनौर हाल निवासी नयागांव ज्वालापुर, किशोर पुत्र संजय अग्रवाल निवासी राजीव नगर ज्वालापुर एवं कन्हैया पुत्र देवीचंद निवासी हरिपुर कलां रायवाला देहरादून को पकड़ लिया गया है। पूछताछ में मैनेजर अरुण सिंह ने बताया कि गेस्ट हाउस संचालक रमेश चंद पुत्र छोटे सिंह निवासी हनुमंत पुरम कनखल ही यात्री को लेकर आया था। उसने यात्री के कमरे में एक महिला को भी बुलाया था, जो कुछ समय बाद कुछ पैसे लेकर चली गई थी। बताया कि देर रात कमरे से चीखने चिल्लाने की आवाज आई। जब वह कमरे के बाहर पहुंचा तो रमेश ने उसे नीचे जाने की बात कहकर वापस लौटा दिया। कुछ देर बाद रमेश ने पहुंचकर यात्री की मौत होने की जानकारी दी और शव को ठिकाने लगाने में सहयोग करने पर रुपए देने का लालच दिया। सीओ सिटी ने बताया कि मैनेजर ने ऑटो रिक्शा चालक उमेश सैनी, होटल के धोबी कन्हैया एवं परिचित किशोर के साथ मिलकर शव को ले जाकर बिल्केवश्वर मार्ग पर फेंक दिया और रोडवेज बस स्टैंड पहुंच गए। फिर ऑटो रिक्शा को ले जाकर नयागांव में पार्क कर होटल पहुंच गए। बताया कि मृतक के पास काफी रकम थी, जिसकी जानकारी रमेश को थी। संभवत रकम हड़पने के चक्कर में ही हत्या कर दी गई हो, यह रमेश की गिरफ्तारी के बाद साफ होगा। फरार चल रहे रमेश की तलाश में पुलिस टीम जुटी हुई है।