गायत्री विद्यापीठ का आईटी ओलम्पियाड में परचम


 हरिद्वार। गायत्री विद्यापीठ में पाठ्यक्रमों के अलावा विद्यार्थियों के चहुमंखी विकास के लिए विविध आयोजन होते हैं। यही कारण है कि यहाँ के विद्यार्थी अपनी पढ़ाई के साथ साथ खेल, योग, साइंस सहित विभिन्न क्षेत्रों में नित नये-नये कीर्तिमान स्थापित कर रहे हैं। इसी कड़ी में विगत दिनों आयोजित आईटी ओलम्पियाड में गायत्री विद्यापीठ के यश मण्डल एवं देवस्य देसाई छात्रों ने परचम लहराया है। इस अवसर पर विद्यापीठ की अभिभाविका श्रद्धेया शैलदीदी ने कहा कि बच्चे गीली मिट्टी की तरह होते हैं। उसे ढालने के लिए अवसर के साथ सांचा बनाने की आवश्यकता है। गायत्री विद्यापीठ इन्हीं कार्यों को लेकर आगे बढ़ रहा है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि विद्यापीठ के बच्चे भविष्य में और भी नये कीर्तिमान गढ़ेंगे। इस अवसर पर उन्होंने बच्चों को प्रोत्साहित करते हुए उज्ज्वल भविष्य हेतु तिलक कर शुभकामनाएं दी। विद्यापीठ की व्यवस्था मण्डल की प्रमुख श्रीमती शैफाली पण्ड्या ने बताया कि वर्ष २०२०-२१ के लिए आईटी ओलम्पियाड के अंतर्गत आईटी (इंफार्मेशन टेक्नोलाजी) और आईसीटी (इंफार्मेशन एण्ड कम्प्यूनिकेशन टेक्नोलाजी) एकेडेमिक के जूनियर व सीनियर कुल चार वर्ग में आनलाइन परीक्षा आयोजित हुई थी। इसमें देशभर के कई लाख बच्चों ने प्रतिभाग किया था। आईटी ओलम्पियाड के जूनियर वर्ग में गायत्री विद्यापीठ के कक्षा सात के छात्र यश मंडल ने  चैथा तथा सीनियर वर्ग में कक्षा ११ के छात्र देवस्य देसाई ने छठवां स्थान प्राप्त कर विद्यापीठ का नाम रोशन किया है। अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुखद्वय डॉ. प्रणव पण्ड्या, शैलदीदी, देसंविवि के प्रतिकुलपति डॉ चिन्मय पण्ड्या, गायत्री विद्यापीठ की व्यवस्था मण्डल प्रमुख श्रीमती शैफाली पण्ड्या आदि ने यश एवं देवस्य को आईटी ओलम्पियाड में सफलता के लिए बधाई दी है।