बदलते परिवेश में हर क्षेत्र में नई तकनीक की जरूरत -आचार्य बालकृष्ण

 हरिद्वार। पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड के प्रबंध निदेशक और सीईओ आचार्य बालकृष्ण ने दावा किया कि उनकी कंपनी की आपूर्ति श्रृंखला, प्रबंधन और वितरण प्रणाली आज एफएमसीजी क्षेत्र में सबसे मजबूत है। क्योंकि पतंजलि आयुर्वेद नई तकनीक के माध्यम से काम करने को प्राथमिकता देता है और पिछले 2 वर्षों में से ही नई तकनीक को अपनाया हुआ है। जबकि अन्य बड़ी कंपनियां अब भविष्य में आपूर्ति श्रृंखला, प्रबंधन और वितरण के संबंध में इस तकनीक को अपनाने की सोच रही हैं। मीडिया को जारी बयान में आचार्य बालकृष्ण का कहना है कि बदलते परिवेश में हर क्षेत्र में नई तकनीक की जरूरत है। लेकिन टेक्नोलॉजी के साथ हमें यह भी देखना होगा कि यह कंपनी के साथ उपभोक्ताओं के लिए भी कितना उपयोगी है। मुख्य उद्देश्य उपभोक्ताओं के हितों को सर्वोच्च प्राथमिकता देना है। आचार्य बालकृष्ण का कहना है कि पतंजलि और उसके उत्पाद आम उपभोक्ता तक आसानी से पहुंचें और सामान्य उपभोक्ता उत्पादों के साथ पतंजलि की आपूर्ति श्रृंखला से जुड़े रहें। इस तकनीकी प्रगति के माध्यम से समूह न केवल विस्तार की ओर देखता है बल्कि इससे आम आदमी और उपभोक्ता को भी लाभ होगा। इसी उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए भरूवा सॉल्यूशंस में भारी निवेश किया गया है जिससे आपूर्ति श्रृंखला और वितरण प्रणाली को विकसित और मजबूत किया जा सके और एक नया आयाम प्रदान किया जा सके। यह तकनीक लेखांकन से लेकर प्रचार और मूल्य प्रबंधन तक का ध्यान रखती है। आचार्य बालकृष्ण का कहना है कि पतंजलि में भरूवा सॉल्यूशंस की स्थापना आपूर्ति श्रृंखला को मजबूत करने के लिए की गई थी और आज यह आपूर्ति श्रृंखला, मिट्टी परीक्षण और बैकवर्ड लिंकेज के क्षेत्र में काम करती है। इसका उद्देश्य पतंजलि के उत्पादों को बड़े पैमाने पर आम उपभोक्ता तक पहुंचाना है। पतंजलि की आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन और खुदरा बिलिंग को मजबूत करने का काम भरुवा सॉल्यूशंस द्वारा तैयार किए गए इस सॉफ्टवेयर के माध्यम से किया जाता है। अन्य कंपनियां अब इस तकनीक को अपना रही हैं।