पांच लाख नही देने पर घर से निकालने के मामले में कोर्ट के आदेश पर मुकदमा दर्ज

 हरिद्वार। दहेज उत्पीड़न के मामले में कोर्ट के आदेश पर कोतवाली ज्वालापुर पुलिस ने कोर्ट के आदेश पर पति, सास और ससुर समेत कई अन्य लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। आरोप है कि पांच लाख रुपये न देने पर विवाहिता को ससुराल वालों ने घर से बाहर निकाल दिया। ज्वालापुर पुलिस के मुताबिक ज्वालापुर निवासी विवाहिता ने शिकायत कर बताया कि दिसंबर वर्ष 2019 में उसका विवाह गौरक्ष वर्मा पुत्र राजेश वर्मा निवासी चिकलाना रोड सहारनुपर के साथ हुआ था। आरोप है कि शादी के बाद ससुराल वालों ने अतिरिक्त दहेज की मांग की। 5 लाख रुपये की डिमांड की। शादी के 40 दिन बाद ही विवाहिता को घर से बाहर निकाल दिया। परिजनों ने कई बार बातचीत भी की। लेकिन ससुराल वाले रुपयों के लिए अड़े रहे। अब कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने पति गौरक्ष वर्मा, ससुर राजेश वर्मा, सास शैलेष, निवासी वर्धमान काँलोनी चिकलाना रोड सहारनपुर जनपद सहारनपुर उत्तर प्रदेश, ननद प्रियंका, नंनदोई सन्नी वर्मा उर्फ पिन्टू पुत्र ईश्वर दयाल निवासीगण- मंडी मोती महल, मुजफ्फरनगर के खिलाफ केस दर्ज किया है। कोतवाली प्रभारी सीसी नैथानी के अनुसार मामले की जांच शुरू कर दी गई है। वही दूसरी ओर कोतवाली रानीपुर पुलिस ने कार और तीन लाख रुपये की डिमांड पूरी न होने पर ससुराल वालों ने महिला को प्रताड़ित करने के  आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। पुलिस के मुताबिक रानीपुर कोतवाली क्षेत्र के कोतवाली क्षेत्र के विष्णुलोक कालोनी निवासी महिला ने शिकायत देकर बताया कि उसकी शादी काईम निवासी गांव दादूपुर से 8 अप्रैल 2018 को हुई थी। आरोप है कि शादी के बाद बच्चे को जन्म देने के बाद महिला से कार और तीन लाख रूपये की डिमांड की गई। डिमांड पूरी न करने पर महिला को घर से बाहर निकाल दिया। आरोप लगाया कि शादी के बाद से ही पति काईम, ससुर मासूल अली, सास नायाब निवासीगण दादूपुर रानीपुर और रिश्तेदार सदरू निवासी मौली जगरा निकट सब्जी मंडी चंडीगढ़ ने महिला को परेशान किया। कोतवाली प्रभारी कुंदन सिंह राणा ने बताया कि केस दर्ज कर लिया गया है।