फर्जी एंग्रीमेंट के जरिये अखाड़ा की जमीन बेचने का आरोप,मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू

 हरिद्वार। थाना कनखल पुलिस ने पंचायती अखाड़ा बड़ा उदासीन निर्माण की महंत के खिलाफ धोखाधड़ी के जरिये जमीन बेचने का मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस के अनुसार आरोप है कि फर्जी प्रमाण पत्रों के आधार पर जोगेंद्र दास महंत बने और 65 लाख रुपये के जमीन एग्रीमेंट कर ले लिए। कनखल पुलिस ने शिकायत के बाद मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। पुलिस के मुताबिक पंचपरमेश्वर पंचायती अखाड़ा बड़ा उदासीन निर्माण कनखल के श्रीमहन्त रघुमुनि और श्रीमहन्त महेश्वरदास ने शिकायत कर बताया कि उन्हें जनवरी 2021 में मालूम हुआ कि रुड़की आवास विकास कॉलोनी निवासी जोगेन्द्र दास गद्दीनशीन महेन्द्र दास का पुत्र है। जिनकी मृत्योपरान्त अखाड़े की ओर से रविन्द्र दास शिष्य महन्त राजेन्द्र दास को शान्तरशाह (भिहंग) की गद्दी का महन्त बनाया गया था। आरोप है कि वर्ष 2010 का एक फर्जी प्रमाणपत्र आरोपी ने तैयार किया और कूटरचित प्रमाणपत्र तैयार कर अपने आप को फर्जी रूप से गद्दी का महन्त नियुक्त करने के लिए साथियों के साथ षड्यंत्र किया। आरोप लगाया कि फर्जी दस्तावेज और हस्ताक्षर के बल पर आरोपी जोगेंद्र दास ने गद्दी की शान्तरशाह की बहुमूल्य सम्पत्ति को धोखाधड़ी करने की नियत से जमीन को बेचने की साजिश की और कई लोगों के खिलाफ बैनामा भी किया। इसके लिए आरोपी जोगेंद्र ने 65 लाख रुपये भी ले लिए। पुलिस ने शिकायत आने के बाद आरोपी जोगेंद्र पुत्र महेंद्र दास, निवासी रुड़की आवास विकास के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। उधर, कोठीरी महंत दामोदर दास ने बताया कि आरोपी फर्जी तरह से गद्दी का महंत बना था। जबकि अखाड़े ने रविंद्र दास की गद्दी पर नियुक्ति की थी। आरोपी ने अपने साथियों के साथ मिलकर जमीन को भी खुर्दबुर्द किया है। इंस्पेक्टर कमल कुमार लुंठी के अनुसार मामले में मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी गई है।