शहर की बदहाल सफाई व्यवस्था से नाराज कांग्रेसी पार्षदो ने दी चेतावनी

 हरिद्वार। शहर की बदहाल सफाई व्यवस्था को लेकर कांग्रेसी पार्षद भी खफा हैं। पार्षदों ने बैठक कर नाराजगी जताई। आरोप लगाया कि नई कंपनी के कूड़ा उठाने की व्यवस्था संभालने के बाद से सफाई व्यवस्था और बिगड़ चुकी है। व्यवस्था न सुधरने पर आंदोलन की भी चेतावनी दी गई। रविवार को ज्वालापुर नीलखुदाना वार्ड की पार्षद खुर्शीदा के आवास पर कांग्रेसी पार्षदों की बैठक हुई। पार्षद अनुज सिंह ने कहा कि कूड़ा न उठने के कारण शहर की दशा खराब हो रही है। सफाई व्यवस्था चैपट हो गई। अधिकारी केवल कमरे में बैठकर ही व्यवस्था देख रहे हैं। कहा कि पूर्व में केआरएल 362 रुपये प्रति टन के हिसाब से कार्य कर रही थी। लेकिन अब उससे भी कम काम नई कंपनी 11 सौ रुपये में कर रही है। शहर की जनता यह जानना चाहती है जो काम 362 में हो रहा था। वह अब 11 सौ रुपये देकर किसको फायदा पहुंचाया गया? उन्होंने कहा कि पार्षदों के कामों में जानबूझकर देरी की जा रही है। इसके लिए अधिकारियों से बात जाएगी। अगर जल्द ही क्षेत्रों में काम नहीं हुए तो आंदोलन करने को बाध्य होंगे। पार्षद रियाज अंसारी ने कहा कि शहर में लगे गंदगी के ढेरों को लेकर कंपनी के खिलाफ सभी पार्षद स्थानीय लोगों के साथ प्रदर्शन करेंगे। पार्षद इसरार सलमानी ने कहा कि बरसात से पहले नालों की सफाई की गई थी। बावजूद इसके नालों का पानी शहर की सड़क और घरों में घुस रहा है। बैठक में पार्षद मेहरबान खान, पार्षद प्रतिनिधि शौकीन, पुनीत कुमार, हाजी शाहबुद्दीन अंसारी, सद्दीक गाड़ा, कांग्रेसी नेता अंकित चैहान आदि शामिल रहे।