बड़़ी संख्या में श्रद्वालुओं ने किया प्राचीन धुनीश्वर महादेव का जलाभिषेक

 हरिद्वार। श्रावण मास के दूसरे सोमवार को शदाणी दरबार तीर्थ में बड़ी संख्या में श्रद्वालुओं ने जलाभिषेक कर सुख समृद्वि की कामना की। बड़ी संख्या मे श्रद्वालुओं ने शिवलिंग का रूद्राभिषेक कर मंगलकामना करते हुए कोरोना खात्मे के लिए भोले बाबा से आर्शीवादा मांगा। गौरतलब है कि प्रसिद्व शदाणी दरबार तीर्थ में 312 वर्ष प्राचीन धुनीश्वर महादेव का दर्शन करने देश विदेश से श्रद्धालु गण आते हैं। शदाणी प्राचीन ग्रन्थों में उल्लेख है कि शदाणी दरबार के संस्थापक सतगुरु संत शदाराम साहिब जब शिव का धूना दुखा के भक्ति में विलीन हो गए तो उस धूनी से धुनीश्वर महादेव प्रकट हुए जिस को हिंद व सिंध में धूणी साहिब व सिंध का शिवलिंग भी कहा जाता है। विश्व प्रसिद्ध धूणी साहिब के लिए कहा जाता है जो भी श्रद्धालु आपनी मनोकामना ले कर शदाणी दरबार के गर्भ गृह धूणी साहिब में आ कर माथा टेकता है तो उसकी सभी मनोकामनाएं पूरी होती है। शदाणी दरबार के नवम पीठाधीश्वर संत डॉक्टर युधिष्ठिर लाल ने सभी श्रद्वालुओं को आर्शीवाद प्रदान करते हुए कहा कि श्रावण मास में यहा आने वाले सभी भक्ता का कल्याण अवश्य होता है।