रक्तदान से किसी के जीवन को बचाया जा सकता है- कोठारी महंत दामोदर दास

 हरिद्वार। श्री पंचायती उदासीन बड़ा अखाड़ा कनखल के कोठारी महंत दामोदर दास महाराज की प्रेरणा से महंत सत्यानंद सहित तमाम लोगों ने रक्तदान कर दूसरों का जीवन बचाने का कार्य किया है। रक्तदान करने के साथ ही उन्होंने बिना किसी भ्रम के रक्तदान करने के लिए सभी से आगे आने का आह्वान किया है। कोठारी महंत दामोदर दास महाराज ने कहा कि रक्तदान महादान होता है। रक्तदान करने से शरीर स्वस्थ रहता है। रक्तदान से किसी के जीवन को बचाया जा सकता है। रक्तदान को लेकर किसी तरह की भ्रांति नहीं पालनी चाहिए। इससे शरीर में किसी तरह की कमजोरी नहीं आती है, बल्कि अच्छा महसूस होता है। रक्तदान से शरीर में नए रक्त का संचार होता है। जिससे शरीर हर रोगों से सुरक्षित रहता है। सभी को अपने जीवन में रक्तदान जरूर करना चाहिए। उन्होंने कहा कि कोरोना जैसी महामारी में तमाम लोग बढ़-चढ़कर रक्तदान कर रहे हैं, जो बेहद प्रशंसनीय है। इन लोगों से सभी को प्रेरणा लेनी चाहिए। रक्तदान करने के लिए बढ़ चढ़कर हिस्सा लेना चाहिए। रक्तदान एक बहुत ही अच्छा कार्य है। इसलिए समय-समय पर रक्तदान कर दूसरे के जीवन को बचाने के लिए भी करना चाहिए। रक्तदान बहुत ही पुण्य का कार्य होता है। उन्होंने कहा कि धर्मनगरी हरिद्वार में लोग काफी जागरूक हैं, वह समय-समय पर रक्तदान करते भी हैं। यही वजह है कि अन्य राज्यों के जिलों की तुलना में हरिद्वार जिले में रक्त की कोई कमी नहीं रही। कोरोना के पीक पर होने के दौरान ब्लड बैंक में कुछ रक्त कमी आ गई थी।  लेकिन की जानकारी मिलते ही तमाम सामाजिक संगठन और अन्य लोग रक्तदान करने के लिए आगे आने लगे थे।