एसएसपी ने मातहतों को दिए निर्देश, कांवडि़यों की बंुकिग नही लेने की अपील

 कांवड़ मेला स्थगित होने के बाद पुलिस प्रशासन ने कसी कमर



हरिद्वार। डाॅ.मनोज कुमार- कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर को देखते हुए राज्य सरकार ने कावड़ यात्रा पर प्रतिबंध लगा दिया है। जिसके बाद पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने भी पुलिस को कड़ाई से प्रतिबंध लागू करने के आदेश जारी किए हैं। एसएसपी सेंथिल अबूदई द्वारा एस पी, सी ओ ,कोतवाल और थाना अध्यक्षों की बैठक कर कार्य योजना बनाई गई। इस सम्बन्ध में हरिद्वार पुलिस ने भी कांवड़ यात्रा के प्रतिबंध को सख्ती से लागू कराने के लिए कमर कस ली है। पुलिस लाईन में आयोजित बैठक में हरिद्वार पुलिस की बार्डर पर आने वाले कांवडियों को रोकने की रणनीती के सम्बन्ध में एसएसपी ने सभी क्षेत्राधिकारी, कोतवाली प्रभारी एवं थानाध्यक्षों को निर्देश दिए। उन्होने कहा कि सरकार के निर्णय के पालन हेतु प्रशासन से समन्वय स्थापित कर समस्त आवश्यक तैयारियां कर बार्डर पर पर्याप्त मात्रा में पुलिस बल नियुक्त करें। सोशल मीडिया के माध्यम से उक्त स्थगन आदेश के सम्बन्ध में व्यापक प्रचार प्रसार करें। एसपी क्राइम, एसपी ग्रामीण व एसपी सिटी को निर्देशित किया कि वह समय से उत्तर प्रदेश के सीमावर्ती जनपदों से बार्डर मीटिंग आयोजित करते हुए सूचनाओं का आदान-प्रदान करें। बार्डर प्वाइंट्स पर अनुभवी पुलिस अधिकारियों एवं कर्मचारियों को नियुक्त किया जाए।  वही गुरूवार को पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार के साथ एक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग होने वाली है। जिसको लेकर आज जनपद के सभी अधिकारियों के साथ बैठक करके फुलप्रूफ प्लान तैयार किया जा रहा है, कल डीजी सर के साथ मीटिंग होने के बाद फाइनल प्लान लागू कर दिया जाएगा। कांवड़ मेला स्थगित होने के बाद सीओ ट्रैफिक बिजेंद्र दत्त डोभाल ने टूर एंड ट्रेवल्स, बस यूनियन हरिद्वार के ऑपरेटरों के साथ ट्रैफिक पुलिस लाइन में बैठक की। सीओ ट्रैफिक ने गैर राज्यों से आने वाले कावड़ यात्रियों की बुकिंग को न लेने के संबंध में कारोबारियों जानकारी दी। सीओ ने बताया कि राजस्थान, पंजाब, हिमाचल प्रदेश वाले कांवडि़ये सबसे पहले आते हैं। प्राइवेट बस वालों को बुकिंग न लेने के लिए कहा गया। कांवडि़ये को लेकर आये तो बसों को सीज किया जाएगा। इस मौके पर यातायात निरीक्षक विकास पुंडीर ने भी कारोबारियों को जानकारी दी। उक्त बैठक में एसपी ग्रामीण, एसपी सिटी, समस्त क्षेत्राधिकारी, यातायात निरीक्षक, समस्त कोतवालीध्थाना प्रभारी एवं अन्य अधिकारी गण की मौजूदगी रहे।