केन्द्र सरकार से की धर्मांतरण रोकने को कानून बनाने की मांग


 हरिद्वार। बड़ा अखाड़ा उदासीन के महामंडलेश्वर महंत रूपेंद्र प्रकाश ने केन्द्र सरकार से संसद में कानून बनाकर धर्मांतरण रोकने को कानून बनाने की मांग की है। महंत स्वामी रूपेंद्रप्रकाश महाराज ने धर्मांतरण और वेल्हम कॉलेज को लेकर सवाल उठाए है। गुरूवार को अपने आश्रम में प्रेस वार्ता कर उन्होंने आरोप लगाया देश मे हिन्दू धर्म के लोगो को खतरा है  बड़ी संख्या में हिन्दू धर्म के लोगो का धर्मांतरण किया जा रहा है धर्मांतरण बहुत गंभीर मुद्दा है। केरल में बड़ी संख्या में धर्मांतरण किया गया। देश मे इसाई मिशनरी और इस्लामिक संगठन बड़ी संख्या में हिंदुओ का धर्मांतरण का काम कर रहे है। इस्लामिक देशों की दृष्टि भारत पर है। वो अलग अलग माध्यम से देश के लोगो का धर्मांतरण करने में लगे है। अभी हाल ही में हुई कश्मीर में दो सिक्ख युवतियों के साथ दुष्कर्म और धर्मांतरण की घटना निंदनीय है। स्वामी रूपेंद्र प्रकाश आरोप लगाया कि दारुल उलूम देवबंद इस काम मे जुटा हुआ है। वहाँ के जमात के लगभग 200 संगठन काम कर रही है। आवाज उठाने वालों के खिलाफ फतवा जारी हो जाते है। देश मे पश्चिम के कई राज्यों में बड़ी संख्या में धर्मांतरण चल रहा है। इस पर रोक लगना जरूरी है। हमारी माँग है कि भारत सरकार के साथ ही राज्यों की सरकारे भी इस विषय पर गंभीरता से विचार करें और जल्द ही देश मे धर्मांतरण विधेयक लाये। कई इस्लामिक देशों की दृष्टि भारत पर बनी है। वो पेट्रो डॉलर के माध्यम से देश के लोगों का धर्मांतरण करने में लगे हुए हैं। कहा कि कानून ही एकमात्र जरिया है, जिससे इस पर रोक लगाई जा सकेगी।