भगवान राम मन्दिर के निर्माण में कुछ लोग बाधा उत्पन्न करने का कार्य कर रहे-श्रीमहंत रविन्द्र पूरी

 हरिद्वार। श्री पंचायती अखाड़ा निरंजनी में आयोजित बैठक में मनसा देवी मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष श्रीमहंत रविन्द्र पुरी महाराज ने कहा कि श्रीराम जन्मभूमि मन्दिर निर्माण के भव्य स्वरूप के लिए अयोध्या में बड़े स्तर पर भूमि अधिग्रहण करने का कार्य चल रहा है। हिन्दू भावनाओं के प्रारूप भगवान राम के मन्दिर का निर्माण पूर्ण होने जा रहा है। इस कार्य में कुछ लोग बाधा उत्पन्न करने का काम कर रहे है। श्रीमंहत रविन्द्र पुरी महाराज ने कहा की श्रीराम मंदिर निर्माण में बाधा उत्पन्न करने वाले लोगों को समाज कभी माफ नहीं करेगा। उन्होंने कहा कि राम मंदिर तीर्थ क्षेत्र के महामंत्री चंपत राय पर लांछन लगाना बेहद ही निंदनीय कृत्य है। उन्होंने कहा कि चंपत राय त्याग की प्रतिमूर्ति है। श्री राम मंदिर निर्माण में उन्होंने अपना पूरा जीवन समर्पित कर दिया। जन आंदोलन से लेकर न्यायलय तक उन्होंने मंदिर के लिए लड़ाई लड़ी और अंत में सर्वोच्च न्यायालय ने श्री राम मंदिर के भव्य निर्माण के लिए अनुमति दी। उन्होंने कहा कि चंपत राय ने आपातकाल के दौरान सरकारी नौकरी छोड़ कर अपना पूरा जीवन समाज को समर्पित करने के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक बने। इसके बाद उन्होंने पीछे मुड़कर कभी नहीं देखा। समाज के लिए घर परिवार रिश्तेदार कभी किसी का मोह नहीं किया। आदर्श की ऐसी प्रतिमूर्ति पर ऐसे आरोप लगाना पूरे समाज का अपमान है। उन्होंने कहा कि 2022 में होने वाले उत्तर प्रदेश के चुनावों के लिए विपक्षी दल अपनी जमीन तैयार कर रहे हैं, लेकिन झूठ फरेब की बुनियाद पर इमारतें खड़ी नहीं हुआ करती। उन्होंने कहा कि राम मंदिर निर्माण में बाधा उत्पन्न करना व लांछन लगाकर घोर पाप किया है। इस का फल विपक्षियों को आगामी चुनाव में भोगना पड़ेगा। आरएसएस के क्षेत्र प्रचार प्रमुख पदम सिंह ने कहा कि श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास के माध्यम से मंदिर को भव्य दिव्य बनाने के लिए मंदिर परिसर से लगी जमीनों व यहां पर रह रहे लोगों को विस्थापित किए जाने की योजना चल रही है। इसके लिए बड़े पैमाने पर भूमि अधिग्रहण का कार्य चल रहा है। सर्वोच्च न्यायालय के मंदिर निर्माण संबंधी आदेश आने के बाद अयोध्या सहित पूरे अवध क्षेत्र में जमीन के रेट आसमान छूने लगे हैं। ऐसे में लोगों से जमीने लेना ही बड़ा काम है। बावजूद इसके अयोध्यावासी बढ चढ़ कर इसमें सहयोग कर रहे है और स्वेच्छा से अपनी जमीनों को मन्दिर ट्रस्ट को बेच दे रहे है। ऐसे में मन्दिर ट्रस्ट भी उन्हें बाजार भाव के अनुरूप ही खरीद रहा है। उन्होंने कहा कि आप व सपा नेताओं ने जो आरोप लगाए है वह पूरी तरह मिथ्या हैं। जनता को भ्रमित व बरगलाने के लिए यह झूठा प्रचार किया गया। उन्होंने कहा कि आरोप लगाने वाले नेताओं की बातों में ही विरोधाभास है। इस मौके पर अखाडे के श्रीमहंत व महन्त उपस्थित रहे।