अधजले शवों को कुत्तों के द्वारा नोचने के मामले में लकड़ी विक्रेता के खिलाफ मुकदमा दर्ज

 

हरिद्वार। चंडीघाट श्मशान घाट के आसपास चिता के अधजले शवों को कुत्तों के नोचने के मामले में सोमवार को सीओ सिटी अभय प्रताप सिंह ने मौके पर पहुंचकर पड़ताल की। छानबीन में सामने आया कि श्मशान घाट पर वेटिंग के चलते दो कोरोना से संक्रमित मृतकों की चिताएं घाट के बाहर जलाई गई थीं और शव पूरी तरह जलने से पहले ही स्वजन वहां से चले गए। पुलिस ने श्मशान के बाहर चिता जलाने के लिए लकड़ी देने वाले ठेकेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। रविवार को इंटरनेट मीडिया पर विचलित कर देने वाले फोटो और वीडियो वायरल हो रहे थे। इनमें चंडी पुल के नीचे श्मशान घाट के आस-पास आवारा कुत्ते कुछ शवों के टुकड़े नोचकर खाते हुए नजर आ रहे थे। बताया गया कि चिता से अधजले शवों को कुत्ते खींचकर ले गए और प्रत्यक्षदर्शियों ने इसकी फोटो वीडियो बनाकर इंटरनेट मीडिया पर डाली।  इस सम्बन्ध में सीओ सिटी अभय प्रताप सिंह ने मौके पर पहुचकर निरीक्षण करते हुए श्मशान घाट समिति के पदाधिकारियों से इस बारे में जानकारी ली। आस पास रहने वालों से भी पूछताछ की। सीओ ने बताया कि श्मशान घाट पर एक बार में आठ शव जलाने की व्यवस्था है। एक शव जलने में तीन से चार घंटे लगते हैं। दो दिन पहले कुछ लोग अलग-अलग अपने दो कोरोना संक्रमित स्वजनों के शव लेकर श्मशान घाट पहुंचे थे। उन्होंने अपनी बारी का इंतजार करने के बजाय लकड़ी खरीदकर श्मशान घाट के बाहर ही चिता बनाकर शवों को अंतिम संस्कार कर दिया और शव पूरी तरह जलने से पहले ही लौट गए। इस मामले में श्मशान घाट का संचालन करने वाली मोक्षधाम समिति के सचिव मान सिंह गुंसाई की शिकायत पर लकड़ी बेचने वाले ठेकेदार बीबी लांबा के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।