स्नातक की परीक्षा कराए जाने की मांग

 हरिद्वार। जन संघर्ष मोर्चा के अध्यक्ष गुलशन खत्री ने मीडिया के माध्यम से सीएम तीरथ सिंह रावत व उच्च शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत से ग्रेजुएशन कर रहे छात्रों के भविष्य ओर परीक्षा को लेकर अपील करते हुए कहा कि स्नातक की जो परीक्षाएं फरवरी मार्च में हो जानी चाहिए थी। वो कोरोना के चलते अब तक नहीं हुई ओर ना ही निकट समय में होने के आसार दिख रहे हैं। जिस कारण छात्र असमंजस कि स्थिति में हैं कि अगले सेमेस्टर कि तैयारी कैसे करें। छात्र संगठन भी इस ओर ध्यान ना देकर राजनेताओं की परिक्रमा कर राजनीति में पहचान बनाने में लगे हैं। जिस कारण बीए, बीएससी, एलएलबी कर रहे छात्र मानसिक तनाव में हैं। देश का भविष्य युवा छात्र छात्राओं के भविष्य को देखते हुए जिस प्रकार इंटरमीडिएट की परीक्षाओं को लेकर विकल्प दिया गया। उसी प्रकार स्नातक के छात्रों के या तो अविलंब परीक्षा कराए जाए या उन्हें प्रमोट कर अगले सेमेस्टर में भेजा जाए। जिससे छात्र मानसिक तनाव से बाहर निकलकर अपना भविष्य सुनिश्चित कर सकें।