वैक्सीन लगाने पहुंचे स्वास्थ्यकर्मियांे ने की लोगों के साथ की अभद्रता

वैक्सीनेशन के पहले दिन ही अव्यवस्थाओं के बीच हुआ टीकाकरण

 हरिद्वार। कोविड 19 यानि कोरोना से बचाव के लिए सरकार की ओर से वैक्सीन टीकाकरण योजना के तहत 18 से 44 साल तक की लोगों को वैक्सीन लगाने का काम सोमवार को भारी अव्यवस्थाओं के बीच शुरू हो गया। 18 साल से 44 साल तक की लोगों को कोरोना से निजात दिलाने के लिए वैक्सीन लगाने का काम शुरू हो गया है। वैक्सीनेशन सेंटर प्रेम नगर आश्रम में अव्यवस्थाओं के बीच शुरू हो गया। शहर में दो स्थानों प्रेम नगर आश्रम तथा ज्वालापुर स्थित गुघाल मंदिर में कोरोना वैक्सीन लगाने की व्यवस्था की गई है। लेकिन दोनों ही स्थानों पर भारी अव्यवस्था में देखने को मिली। 2 गज की दूरी का कोई ध्यान नहीं रखा गया। टीकाकरण कराने के लिए भारी भीड़ उमड़ी आपाधापी की स्थिति बनी रही हालांकि केंद्र पर रजिस्ट्रेशन नहीं किए जा रहे थे। प्रशासन द्वारा किसी भी प्रकार की व्यवस्था टीकाकरण को लेकर नहीं की गई थी। देखते ही देखते युवाओं की भीड़ वैक्सीनेशन सेंटर पर उमड़ पड़ी। भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिसकर्मी और होमगार्ड को मौके पर पहुंचना पड़ा। पुलिस ने लोगों को वैक्सीनेशन सेंटर से हटाकर दूर एक लाइन लाइन पर लगने की सलाह दी। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाई गई। वैक्सीन लगाने आए स्टाफ का भी रवैया लोगों के प्रति ठीक नहीं था वैक्सीन लगाने पहुंचे स्टाफ ने लोगों के साथ किया अभद्र व्यवहार। और लोगों को सही जानकारी भी नहीं दे नर्स और डॉक्टर। प्रेम नगर आश्रम टीकाकरण सेंटर पर ना पहुंचती पुलिस तो लोगों को बिना वैक्सीन लगाएं लौट जाते नर्स और डॉक्टर। भारी भीड़ उमड़ी रजिस्ट्रेशन कराने और टीकाकरण कराने के लिए आपाधापी की स्थिति बनी रही हालांकि केंद्र पर रजिस्ट्रेशन नहीं किए जा रहे थे ऐसे में तुरंत ही रजिस्ट्रेशन कराने की उम्मीद लेकर पहुंचे लोगों को वापस लौटना पड़ा। इस दौरान भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिसकर्मी और होमगार्ड आदि भी तैनात किए गए थे लेकिन बार-बार भीड़ के ज्यादा आने के चलते वैक्सीनेशन के काम में बाधा भी पड़ती रही। प्रेम नगर आश्रम में वैक्सीनेशन की व्यवस्था संभाल रहे चिकित्सा अधिकारी सुबोध जोशी के अनुसार सभी पात्र लोगों को समुचित टीकाकरण कराने की व्यवस्था है उन्होंने लोगों से धैर्य बनाए रखने और व्यवस्था में सहयोग करने की अपील भी की।