श्रमिक के बिना किसी कार्य की कल्पना नही की जा सकती

हरिद्वार। मजदूर दिवस की शुभकामनाएं देते हुए आम आदमी पार्टी के हरिद्वार विधानसभा क्षेत्र के प्रवक्ता व मीडिया प्रभारी एडवोकेट सचिन बेदी ने कहा कि श्रम के बिना कोई भी कार्य पूर्ण नहीं हो सकता और प्रत्येक कार्य को पूर्ण करने के लिए एक श्रमिक की आवश्यकता होती है। एक मजदूर प्रत्येक क्षेत्र में अपना विशेष महत्व रखता है। किसी भी श्रम की मजदूर एक विशिष्ट इकाई होता है। कोई भी कार्य भले ही वह छोटा हो अथवा बड़ा मजदूर के बिना संभव नहीं है। मजदूर के बिना किसी भी कार्य की कल्पना नहीं की जा सकती। 1 मई का दिन मजदूरों, श्रमिकों को समर्पित है। इसलिए प्रत्येक वर्ष 1 मई को श्रम दिवस के रूप में मनाया जाता है। भारत समेत लगभग 100 देशों में 1 मई को अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस के रूप में मनाया जाता है। काम के घण्टे निर्धारित किये जाने की मांग को लेकर वर्ष 1977 में श्रमिकों ने आंदोलन शुरू किया था। भारत में पहली बार 1 मई 1923 को चेन्नई में इस आंदोलन की शुरूआत हिंदुस्तान की श्रम किसान पार्टी ने की थी। जिसमें मजदूरों ने मांग की थी किसी भी प्रकार के काम की अवधि 8 घंटे से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। एक मजदूर अपना सम्पूर्ण जीवन दूसरों का सपना पूरा करने में बिता देता है, और खुद बेबस और लाचारी का जीवन जीता है। एडवोकेट सचिन बेदी ने कहा कि ’मजदूर के लिए एक कहावत चरितार्थ है-’धन दौलत के नशे में चूर अमीर अपना चैन सुकून भी खोता है, वह मजदूर ही है जो खा के सूखी रोटी बड़े चैन से सोता है।