वाहन चोर गिरोह का पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने किए तीन आरोपी गिरफ्तार, एक फरार आरोपी की निशानदेही पर चोरी की 16 बाईके बरामद

 हरिद्वार। कोतवाली ज्वालापुर पुलिस ने चैकिंग के दौरान वाहन चोर गिरोह के तीन सदस्यों को गिरफ्तार उनके द्वारा चोरी की गयी 16 बाईक बरामद की है। गिरोह का चैथा आरोपी फरार बताया जा रहा है। पुलिस के अनुसार आरोपी आईपीएल में सट्टा लगाने के लिए पैसों की जरूरत पूरी करने के लिए वाहन चोरी की घटनाओं को अंजाम दे रहे थे। कोतवाली ज्वालापुर कोतवाली प्रभारी चन्द्र चन्द्राकर नैथानी ने बताया कि थाना क्षेत्र में बढ़ती वाहन चोरी की घटनाओं पर अंकुश लगाने व अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर अलग-अलग पुलिस टीमों का गठन किया गया है। रेल चैकी प्रभारी एसआई खेमेन्द्र गंगवार अपनी टीम के साथ लाल पुल के पास चैंकिग कर रहे थे। इसी दौरान गीता चैक की तरफ से दो मोटर साईकिलों पर आ रहे चार युवकों को रोका गया तो वे वापस भागने लगे। लेकिन पुलिस टीम ने पीछा कर तीन युवकों को दबोच लिया। जबकि एक फरार हो गया। पकड़ में आए तीन में से एक नाबालिग है। पूछताछ में वकुल व अमन निवासी ग्राम महेश्वरी थाना भगवानपुर ने फरार हुए साथी का नाम चिन्टू उर्फ रजत निवासी मुण्डाखेड़ा लकसर बताया। उन्होंने बताया कि वे वाहन चोरी करते हैं और बरामद मोटरसाईकिल भी चोरी की है। जिन्हें आर्यनगर व बकरा मार्केट से चोरी किया गया है। गहनता से पूछताछ के बाद आरोपियों की निशानदेही पर 16 बाईक बरामद की गयी। कोतवाली प्रभारी ने बताया कि आरोपी मिलकर पहले क्षेत्र की रेकी करते हैं और ऐसे स्थान को चिन्हित करते हैं। जहां मोटर साईकिल खुले में खड़ी रहती हैं। चारों में से तीन लोग आने जाने वाले व्यक्तियों पर निगाह रखते हैं और चैथा मोटरसाईकिल चोरी कर फरार हो जाता है। फरार आरोपी चिन्टू उर्फ रजत की तलाश की जा रही है। उसे जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। पुलिस टीम में कोतवाली प्रभारी के अतिरिक्त एसएसआई दीपक कठैत, रेल चैकी प्रभारी खेमेन्द्र गंगवार, बाजार चैकी प्रभारी देवेंद्र सिंह चैहान, एसआई चरण सिंह, एसआई देवेन्द्र पन्त, कांस्टेबल देवेंद्र चैधरी, मनमोहन, निर्मल, लक्ष्मण, गजेंद्र, रविन्द्र नेगी, अमित गौड़, वीरेंद्र चैहान, वीरेंद्र, सुखदेव, जय प्रकाश, पंकज तिवारी, विकास थापा, कुलदीप, सतेंद्र आदि शामिल रहे।