तीनों बैरागी अखाड़ों के श्रीमहंतो ने सरकार का जताया आभार

 हरिद्वार। मेला प्रशासन द्वारा बैरागी संतो को भूमि आवंटन किए जाने पर तीनों वैष्णव अनी अखाड़े के श्रीमहंतों ने मेला प्रशासन एवं राज्य सरकार का आभार व्यक्त किया है। प्रैस को जारी बयान में अखिल भारतीय श्रीपंच निर्मोही अनी अखाड़े के अध्यक्ष श्रीमहंत राजेंद्रदास महाराज ने कहा है कि नवनियुक्त मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने ऐतिहासिक फैसले लेकर संतो को सम्मान दिया है। मुख्यमंत्री के फैसले के बाद कुंभ मेले को लेकर वैष्णव संतों में उत्सव का माहौल है। धर्म के प्रति लिए गए सकारात्मक निर्णय व्यक्ति को महान बनाते हैं। राज्य सरकार और संत महापुरुषों के समन्वय से ही कुंभ मेला सकुशल संपन्न होगा। उन्होंने कहा कि लंबे समय से वैरागी संत टेंट एवं शिविर लगाने की मांग सरकार से कर रहे थे। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद कुंभ मेले की रौनक बढ़ेगी और बैरागी संतो के शिविर कुंभ मेले की शोभा को भव्य रुप से बढ़ाएंगे। अखिल भारतीय श्रीपंच निर्वाणी अनी अखाड़े के अध्यक्ष श्रीमहंत धर्मदास महाराज ने कहा कि कुंभ मेला भव्य रुप से कराना मुख्यमंत्री की धर्म के प्रति आस्था को दर्शाता है। पतित पावनी मां गंगा की कृपा से कुंभ मेला ऐतिहासिक रूप से संपन्न होगा। अखिल भारतीय श्रीपंच दिगंबर अनी अखाड़े के अध्यक्ष श्रीमहंत रामकृष्ण दास नगरिया महाराज ने कहा कि कुंभ मेला दिव्य और भव्य रुप से संपन्न होगा तो पूरे विश्व में उत्तराखंड सरकार का मान बढ़ेगा और मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत संत महापुरुषों के आशीर्वाद से राजनीति में नए आयाम स्थापित करेंगे। इस दौरान जगद्गुरू रामानंदाचार्य स्वामी अयोध्याचार्य, महंत गौरीशंकर दास, महंत रामशरणदास, महंत रामजीदास, महंत रामकिशोर दास शास्त्री, महंत मनीष दास, म.म.भगवानदास खाकी, महंत मोहनदास खाकी, महंत रामप्रवेश दास, महंत हरिदास, महंत ऋषिकुमार दास, म.म.सरजूदास महात्यागी, म.म.आरीदास, म.म.भैयाजी महाराज, म.म.त्रिवेदी दास, म.म.महात्मा दास त्यागी, म.म.बालकदास महात्यागी, म.म.रामदास, महंत हिटलर बाबा, महंत रामदास, महंत पवनदास आदि मौजूद रहे।