कोविड जैसी महामारी में जोखिम लेना ठीक नही-त्रिवेन्द्र सिंह रावत

 हरिद्वार। उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत आज हरिद्वार दौरे पर थे जहां उन्होंने कनखल स्थित हरिहर आश्रम में जूना पीठाधीश्वर आचार्य अवधेशानंद गिरी से मुलाकात की और पारदेश्वर महादेव मंदिर में भगवान शिव का जलाभिषेक किया इस मौके पर उन्होंने कहा कि कुंभ में आने वाले श्रद्धालुओं पर कोविड के नियमों के पालन में ढील देना हानिकारक हो सकता है। त्रिवेंद्र सिंह रावत मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफे के बाद सोमवार को पहली बार हरिद्वार पहुंचे जहां उन्होंने हरिद्वार के विश्व प्रसिद्ध हरिहर आश्रम में जूना अखाड़े के आचार्य महामंडलेश्वर अवधेशानंद गिरी से मुलाकात की जिसके बाद उन्होंने आश्रम में भगवान शिव का जलाभिषेक किया। इस अवसर पर पत्रकारों से वार्ता करते हुए उन्होंने कहा कि क्योंकि वह भगवान शिव के भक्त हैं और आज सोमवार है इसलिए हरिद्वार भगवान शिव के जलाभिषेक के लिए आए थे। वही इस मौके पर उन्होंने कहा कि तीरथ सिंह रावत द्वारा कुम्भ को लेकर दिया गया बयान मेरे द्वारा दिए गए बयान के समान ही है कि कुंभ दिव्य ओर भव्य होगा साथ ही कोविड के नियमों का पालन आवश्यक है। वही इस मौके पर राज्य सरकार को श्रद्धालुओं को बेरोकटोक आने के फैसले पर चेताया कि कोविड जैसी महामारी में कोई भी जोखिम लेना ठीक नहीं है, क्योंकि देश के 7 राज्यों में चिंताजनक स्थिति बनी हुई है। उन्होंने कहा कि कल देश मे 1 दिन में 25000 केस सामने आए हैं जो चिंताजनक है। हम सबकी जिम्मेदारी बनती है कि अपने देश और राज्य है को इस महामारी से बचाने के हर संभव प्रयास करें।