समीक्षा के दौरान लक्ष्य के सापेक्ष डिस्बर्समेंट पर जिलाधिकारी ने जतायी नाराजगी

 जिलाधिकारी ने हरिद्वार। जिलाधिकारी सी रविशंकर ने कलेक्ट्रेट सभागार में मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना की समीक्षा बैंको के साथ की। उन्होंने सभी बैंकों के ब्रंाच मैनेजर के साथ सीधा संवाद किया। डीएम ने मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के इस वित्त वर्ष के लक्ष्य के सापेक्ष डिस्बर्समेंट की स्थिति पर असंतोष जताया। उन्होंने कहा कि सभी बैंक और जिला उद्योग केंद्र बैठक के माध्यम से लाभार्थियों के सेंक्शन में समस्या का निराकरण और तेजी से डिस्बर्समेंट के लिए आपसी समन्वय से कार्य करें। बैंको केे अर्हता मानकों को पूर्ण करने, लाभार्थियों को बैंको के सहयोग न करने व समय से और सटीक जानकारी न मिलने की शिकायतों पर जिलाधिकारी ने लीड बैंक मेनेजर को एक बैंकिंग हेल्पलाइन पटल शुरू करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि सभी बैंक एक निर्धारित प्रारूप बनायें जिसे किसी आवेदन को निरस्त करते समय निरस्तीकरण के कारणों सहित आवदेक को लौटाया जाये। जिससे आवेदक अपने कागजात को पूर्ण कर पुनः आवेदन कर सके। सभी बैंक शाखाओं ने अगले सप्ताह इस वर्ष वित्त वर्ष के लक्ष्य को पूर्ण कर डिस्बर्समेंट कर दिये जाने का आश्वासन जिलाधिकारी को दिया। बैठक में महाप्रबंधक जिला उद्योग केंद्र श्रीमती पल्लवी गुप्ता सहित अनेक बं्राच प्रबंधक उपस्थित रहे।