अपर मेलाधिकारी ने बैरागी कैम्प पहुचकर वैष्णव संतो से की सुविधाओं को लेकर चर्चा

 हरिद्वार। अपर मेला अधिकारी हरवीर सिंह ने बैरागी कैंप स्थित अखिल भारतीय श्री पंच निर्मोही अनी अखाड़े पहुंचकर तीनों वैष्णव अखाड़ों के श्रीमहंत एवं प्रतिनिधियों से कुंभ मेले की सुविधाओं को लेकर चर्चा की। चर्चा के दौरान श्री पंच निर्मोही अनी अखाड़े के अध्यक्ष श्रीमहंत राजेंद्र दास महाराज ने कहा कि 16 मार्च को बड़ी संख्या में वैरागी संत हरिद्वार पहुंचेंगे। मेला प्रशासन को 15 मार्च तक भूमि आवंटित कर बिजली, पानी, शौचालय की मूलभूत सुविधाएं प्रदान की जाएं। साथ ही टेंट एवं शिविर की व्यवस्था भी मेला प्रशासन को करानी चाहिए, अन्यथा बैरागी संत उग्र होंगे और लड़ने मरने को मजबूर होंग।े जिसके बाद बैरागी संत अपने शिविर अथवा टेंट स्वयं लगाएंगे। श्री पंच निर्वाणी अनी अखाड़े के अध्यक्ष श्रीमहंत धर्मदास महाराज ने कहा कि कोरोना महामारी को बहाना बनाकर मेला प्रशासन संतो को बरगला रहा है, जो कि ठीक नहीं है। मेले के दौरान आयोजित होने वाले धार्मिक अनुष्ठानों से कोरोना महामारी एवं अन्य बीमारियां दूर होंगी। इसलिए सरकार को धार्मिक आयोजनों पर रोक नहीं लगानी चाहिए।  श्री पंच दिगंबर अनी अखाड़े के श्रीमहंत किशन दास महाराज ने कहा कि कुंभ मेला प्रारंभ होने में ज्यादा समय शेष नहीं रह गया है। जल्द ही बैरागी संतो का हरिद्वार आना प्रारंभ हो जाएगा। मेला प्रशासन को अपनी कमर कस लेनी चाहिए। अपर मेला अधिकारी हरवीर सिंह ने सभी संतो को आश्वासन देते हुए कहा कि कुंभ मेले के दौरान वैष्णव अखाड़ों के संतों को किसी भी प्रकार की असुविधा का सामना नहीं होने दिया जाएगा। इसके लिए मेला प्रशासन पूरी तरह आश्वस्त है। उन्होंने कहा कि संत महापुरुषों और प्रशासन के समन्वय से ही कुंभ मेला दिव्या भव्य एवं सुरक्षित रूप से संपन्न होगा। इस दौरान जगद्गुरू रामानंदाचार्य स्वामी अयोध्याचार्य, महंत प्रह्लाद दास, महंत प्रेमदास, बाबा हठयोगी, महंत दुर्गादास, महंत विष्णुदास, महंत प्रमोद दास, महंत अवध बिहारी दास, महंत मोहनदास, महंत रामशरण दास, महंत सुखदेव दास, महंत सिंटू दास, महंत अगस्त दास सहित कई बैरागी संतों ने अपर मेलाधिकारी हरबीर सिंह से महाकुंभ मेला के दौरान बैरागी संतों को सभी सुविधाएं उपलब्ध कराने था मेला सकुशल संपन्न कराने की मांग की।