केन्द्रीय मंत्री ने जनपद में सड़क सुरक्षा के मानकों का क्रियान्वयन करने के दिए निर्देश

 हरिद्वार। केन्द्रीय शिक्षामंत्री एवं हरिद्वार सांसद रमेश पोखरियाल निशंक ने वीडियों कांफेसिंग के माध्यम से सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में सड़क सुरक्षा के मानकांे का क्रियान्वयन जनपद में सुनिश्चित किये जाने के निर्देश दिए। गुरूवार को वीडियों कांफेंसिंग के माध्यम से हुई बैठक में जिलाधिकारी सी रविशंकर, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सेंथिल अबुदई सहित परिवहन विभाग व समस्त निर्माण विभाग के अधिकारी उपस्थित रहे। केन्द्रीय मंत्री ने परिवहन विभाग के अधिकारियों से जनपद के अन्तर्गत सड़क सुरक्षा क्रिया-कलापों एवं सड़क दुर्घटनाआंे के आंकड़ों की निगरानी, जनपद में वर्ष 2020 में वाहन दुर्घटनाओं का तुलनात्मक विवरण, सड़क दुर्घटना के कारणों को जानकर उसका अध्ययन कराने को कहा। इस दौरान जनपद के अन्तर्गत वर्ष 2020 में घटित वाहन दुर्घटनाओं का वाहन वार, कारणवार तुलनात्मक विवरण, जनपद के अन्तर्गत चिन्हित ब्लैक स्पाॅट व अन्य दुर्घटना संभावित स्थलों के सुधारीकरण की कार्यवाही, ओवर स्पीड, वाहन चलाते समय मोबाईल फोन पर बात करना, नशे का सेवन कर वाहन चलाना, रेड लाईट जम्प करना, भार वाहन में क्षमता से अधिक माल ले जाना व भार वाहन में यात्रियों का परिवहन करना के विरूद्ध कठोर प्रवर्तन कार्यवाही, दुपहिया वाहन में चालक सहचालक द्वारा बिना हैल्मेट पहने वाहन चलाना, सहित 11 बिन्दुओं पर जिलाधिकारी ने जनपद की स्थिति से सांसद को अवगत कराया। श्री निशंक ने सड़क सुरक्षा के मानकांे का क्रियान्वयन जनपद में सुनिश्चित किये जाने तथा वर्ष 2019 एवं वर्ष 2020 में की गयी प्रवर्तन कार्यवाही चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि प्रर्वतन कार्रवाई के बाद दुर्घटनाओं में कमी आनी चाहिए। दुर्घटनाओं के संवेदनशील स्थानों चैराहों आदि पर नियमों का उल्लंघन करने वालों पर निगरानी के लिए सीसीटीवी कैमरे अनिवार्य रूप से लगायें जायें, जिससे अपराधियों पर दण्डात्मक कार्रवाई तेजी से अमल में लायी जा सके। केन्द्रीय मंत्री ने जिला प्रशासन हरिद्वार, पुलिस व परिवहन विभाग को निर्देश देते हुए कहा कि हरिद्वार अंतर्राष्ट्रीय दृष्टि से एक महत्वपूर्ण शहर है, हम सभी को हरिद्वार को और अधिक सुरक्षित बनाना ही है। इस दिशा में ओवर लोडिंग, नशे में ड्राइविंग को रोकने के लिए विशेष प्रयास करने होंगे। उन्होंने कहा कि शिक्षा विभाग भी इसमें भागीदारी करते हुए छात्रों को यातायात नियमों,  दुर्घटनाओं से बचाव के लिए शिक्षित करें। विद्यालयो में छात्रों के बीच पेंटिंग, स्लोगन, निबंध, प्रदर्शनी प्रतियोगिता आदि कराये। जिन वाहनों के बार-बार चालान काटने की स्थिति बनी हुई है, उन सभी वाहनों का डाटा अलग से तैयार करने के निर्देश दिये। मंगलौर विधायक काजी निजामुद्ीन ने सांसद को दुर्घटना स्थल पर 108 के देरी से पहुुचे की शिकायत की। इस पर श्री निशंक ने जिलाधिकारी एवं सीएमओ को 108 सेवा को दुरुस्त बनाए रखने के निर्देश दिये। मंत्री जी ने निर्देश दिये कि सड़क दुर्घटनाओं में घायल हुए व्यक्ति को हॉस्पिटल पहुँचाने वाले मददगार व्यक्ति (गुड सेमेरिटन) को सार्वजनिक रूप से सम्मानित किया जाये, जिससे अन्य व्यक्तियों को प्रेरित किया जा सके। उन्होंने वीडियो कांफ्रेस के माध्यम से सभी को सड़क सुरक्षा संबंधी शपथ भी दिलायी। बैठक में विधायक मंगलौर काजी निजामुद्दीन फोन लिंक्स के माध्यम से तथा सांसद प्रतिनिधि ओमप्रकाश जमदग्नि, जिलाध्यक्ष महिला मोर्चा रीता चमोली, जिला मंत्री भाजपा आशू चैधरी, जिला उपाध्यक्ष महिला मोर्चा मन्नू रावत ने कलेक्ट्रेट रोशनाबाद वीसी कक्ष पहुंचकर वीडियो कांफ्रेस में प्रतिभाग किया।