धूमधाम से मनाया गया गुरू गोबिंद सिंह का प्रकाशोत्सव

 हरिद्वार। भेल सेक्टर दो स्थित गुरुनानक दरबार गुरुद्वारे में दशमेश पिता गुरु गोबिंद सिंह का प्रकाशोत्सव धूमधाम से मनाया गया। सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालुओं ने गुरुद्वारे पहुंचकर गुरु ग्रंथ साहिब के आगे माथा टेका। चंडीगढ़ वाले ढाढी जत्थे के भाई गुरुदेव सिंह ने गुरु गोबिंद सिंह की कथा सुनाकर श्रद्धालुओं को निहाल किया। उन्होंने गुरु गोबिंद सिंह की जीवनी पर प्रकाश डालते हुए बताया कि गुरु गोबिंद सिंह का परिवार बलिदानियों का परिवार था। उनके पिता गुरु तेग बहादुर, चारो साहिबजादों ने भी देश और कौम के लिए शहीदी दी। इस अवसर पर भेल ईडी संजय गुलाटी ने कहा कि गुरुओं के बताए मार्ग पर चलकर मनुष्य अपना जीवन सफल बना सकता है। अपनी संस्कृति और महापुरुषों के बारे में सभी को जानकारी होनी चाहिए। गुरुद्वारे के प्रधान सुखदेव सिंह ने बताया कि 15 से 22 जनवरी तक रोजाना प्रभात फेरी निकाली गई। 22 जनवरी से अखंड पाठ आरंभ किया गया जिसका समापन 24 जनवरी को किया गया और गुरु गोबिंद सिंह का प्रकाशोत्सव धूमधाम से मनाया गया। विशेष दीवान सजाकर भाई सरबजीत सिंह द्वारा शब्द कीर्तन सुनाया गया। जिसके उपरांत अटूट लंगर बरताया गया। इस अवसर पर उजल सिंह, हरभजन सिंह, अमरदीप सिंह, जसविंदर सिंह, करमजीत सिंह, जेएस सड़ाना, बलबीर सिंह, अनूप सिंह, विक्रम सिंह आदि प्रमुखा रूप से उपस्थित रहे।