एमडीएच के संस्थापक महाशय धर्मपाल के निधन पर लाल माता मंदिर में दी गयी भावभीनी श्रद्धाजंलि

 हरिद्वार, 03 दिसम्बर। एमडीएच के संस्थापक महाशय धर्मपाल के निधन से तीर्थनगरी हरिद्वार में शोक व्याप्त है। महाशय धर्मपाल जहां गुरूकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय के संरक्षक थे वहीं उनका तीर्थनगरी हरिद्वार के संत समाज के साथ भी गहरा जुड़ाव था। लाल माता मंदिर में भक्त दुर्गादास के संयोजन में श्रद्धाजंलि सभा का आयोजन किया गया जिसमें लाल माता मंदिर के प्रबंधक भक्त दुर्गादास ने दिवंगत महाशय धर्मपाल को भावभीनी श्रद्धाजंलि देते हुए कहा कि महाशय धर्मपाल ने जहां अपनी मेहनत व कर्मठता के बल पर अपने व्यापार को बुलंदियों पर पहुंचाया वहीं अपने सेवाभाव व सामाजिक कार्यों की बदौलत समूचे देश में अपनी विशिष्ट पहचान स्थापित की। उनका हरिद्वार से लगाव नाता था जहां वे आर्य समाजी होने के नाते गुरूकुल से जुड़े रहे वहीं मां गंगाजी के प्रति भी उनकी अगाध श्रद्धा थी। इस अवसर पर पार्षद अनिल मिश्रा, सुनीता शर्मा, अनिरूद्ध भाटी, विनित जौली, पार्षद प्रतिनिधि विदित शर्मा, समाजसेवी संजय वर्मा, विपिन शर्मा, अमित गुप्ता, रितेश वशिष्ठ, दिव्यम यादव, रूपेश शर्मा, सूर्यकान्त शर्मा, दिनेश शर्मा आदि समेत लाल माता मंदिर के समस्त स्टाफ व भक्तजन उपस्थित रहे।