पीएचडी प्रवेश परीक्षा के लिए पहुचे 107

 हरिद्वार। देव संस्कृति विश्वविद्यालय शांतिकुंज की पीएचडी प्रवेश परीक्षा बुधवार को सम्पन्न हुई। प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्या ने बताया कि शोध परीक्षा में प्रारम्भ से ही इस प्रकार की व्यवस्था की गई है कि विद्यार्थी रचनात्मक बने एवं शोध से संबंधित कार्यों व संभावित समस्याओं का निराकरण कर सके। इस संबंध में नई शिक्षा नीति को ध्यान रखते हुए विवि में कार्यक्रम तैयार किये गये हैं। पीएचडी समन्वयक डॉ. स्मिता वशिष्ठ के बताया कि पीएचडी के लिए आये 107 विद्यार्थियों में से लिखित परीक्षा में कुल 65 विद्यार्थियों ने भाग लिया। वहीं शेष विद्यार्थी नेट क्वालीफाई होने के कारण सीधे साक्षात्कार में सम्मिलित होंगे। परीक्षा में पहला पेपर रिसर्च मेथोडोलॉजी का था, जो सभी के लिए अनिवार्य था। इसके साथ ही दूसरा पेपर विद्यार्थी के विषय से संबंधित था, जो वस्तुनिष्ट रूप में था। परीक्षा नियंत्रक डॉ कृष्णा झरे, संतोष विश्वकर्मा, उप परीक्षा नियंत्रक डॉ. अरूणेश पाराशर, डॉ. उमाकांत इंदौलिया ने परीक्षा प्रबंधन की सम्पूर्ण व्यवस्था को सुव्यवस्थित किया। उपपरीक्षा नियंत्रक ने बताया कि लिखित परीक्षा का रिजल्ट 14 दिसम्बर को आयेगा तथा लिखित परीक्षा में उत्तीर्ण होने वाले एवं नेट क्वालीफाई विद्यार्थियों का साक्षात्कार 18 से 26 दिसम्बर के बीच निर्धारित है।