प्राॅपट्री डीलर को फिर से मिली धमकी,पुलिस जांच में जुटी

हरिद्वार। ज्वालापुर निवासी प्रॉपर्टी डीलर मोनू त्यागी को एक बार अल्मोड़ा जेल में बंद कलीम के नाम से धमकी मिली है। पुलिस ने पिछले महीने मोनू त्यागी से एक करोड़ की रंगदारी मांगने के मामले में कलीम व नरेंद्र वाल्मीकि के सात गुर्गों को गिरफ्तार किया था। अब दोबारा धमकी मिलने पर पुलिस ने कलीम के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। आर्यनगर ज्वालापुर निवासी प्रॉपर्टी डीलर मोनू त्यागी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े हैं। बीते सात सितंबर को उनके घर के बाहर कुछ बदमाशों ने हवाई फायरिग की थी। इसके बाद अल्मोड़ा जेल में बंद मंगलौर निवासी कलीम के नाम से एक करोड़ रुपये की रंगदारी मांग की गई थी। पुलिस की जांच में कलीम के साथ-साथ पौड़ी जेल में बंद नरेंद्र वाल्मीकि का नाम भी रंगदारी की साजिश में सामने आया था। पुलिस ने दोनों के सात गुर्गों को गिरफ्तार कर जेल भी भेजा था। साथ ही, डीलर की जान को खतरा देखते हुए सुरक्षा मुहैया कराई गई थी। लेकिन, बुधवार देर रात एक बार फिर से मोनू त्यागी के वाट्सएप पर धमकी भरे मैसेज भेजे गए। जिसमें लिखा गया कि बोलने के बावजूद अल्मोड़ा जेल में बंद कलीम से मुलाकात क्यों नहीं की गई। जल्द मुलाकात न करने पर अंजाम भुगतने की धमकी भी दी गई। प्रॉपर्टी डीलर ने देर रात ही पूरे मामले से पुलिस अधिकारियों को अवगत कराया। एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय ने बताया कि प्रोपर्टी डीलर की तहरीर पर अल्मोड़ा जेल में बंद कलीम व एक अज्ञात आरोपित के खिलाफ रंगदारी मांगने और हत्या की धमकी देने का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है । जिस मोबाइल फोन नंबर से धमकी भरा मैसेज आया है, उसकी जानकारी जुटाई जा रही है।