भाजपा सरकार पर कश्यप समाज की अनदेखी का आरोप,दी आंदोलन की चेतावनी

हरिद्वार। कश्यप समाज द्वारा भाजपा का लगातार समर्थन करने के बावजूद सरकार द्वारा समाज की अनदेखी करने का आरोप लगाते हुए कश्यप दल फाउण्डेशन ने कहा है कि अगर ऐसा ही रहा तो 2022 में भाजपा को सबक सिखाने का कार्य करेगी। भाजपा कश्यप समाज को केवल वोट बैंक की नजर से देखता है। चेतावनी दी कि अगर समाज की अनदेखी जारी रही तो प्रदेशभर में आंदोलन चलाया जायेगा। कश्यप दल फाउंडेशन के प्रदेश अध्यक्ष अरूण कश्यप व संगठन मंत्री रविन्द्र कश्यप ने शनिवार को प्रेस क्लब में पत्रकारों से वार्ता करते हुए कही। वार्ता के दौरान फाउडेंशन ने भाजपा और प्रदेश सरकार पर कश्यप समाज की उपेक्षा करने का आरोप लगाया है। रविन्द्र कश्यप ने कहा कि प्रदेश में तीन लाख जनसंख्या वाले कश्यप समाज ने चुनावों में भाजपा का समर्थन किया है। हरिद्वार जनपद की तीन विधानसभा सीटों पर हार जीत का फैसला कश्यप समाज करता है। लेकिन पार्टी व सरकार में हमेशा ही समाज की उपेक्षा की गयी। मत्स्य विभाग का उपाध्यक्ष पद कश्यप समाज के लिए आरक्षित है। सरकार के चार वर्ष पूरे होने वाले हैं, लेकिन आज तक भी इस पद कश्यप समाज के व्यक्ति की नियुक्ति नहीं की गयी। जबकि दोहरे मापदंड अपनाते हुए सरकार में उच्च जातियों को अहम पद दे दिए गए। प्रदेश अरूण कश्यप ने कहा कि हाल ही में घोषित भाजपा की प्रदेश व जिला कार्यकारिणी में भी कश्यप समाज की उपेक्षा की गयी है। प्रदेश व जिले में एक भी पद कश्यप समाज को नहीं दिया गया। जिससे भाजपा द्वारा समाज के प्रति अपनायी जा रही उपेक्षापूर्ण नीति का साफ पता चलता है। जिसका परिणाम भाजपा को 2022 के चुनावों के बाद विपक्ष में बैठकर भुगतना होगा। प्रैसवार्ता में प्रदेश उपाध्यक्ष मंजू कश्यप, प्रदेश महामंत्री सोनू कश्यप, प्रदेश मीडिया प्रभारी सोनू कश्यप, महिला विंग की प्रदेश अध्यक्ष रश्मि कश्यप, प्रदेश मंत्री नवीन कश्यप, विभाग संगठन मंत्री मोहन कश्यप, जिला संगठन मंत्री अर्जुन कश्यप, जिला अध्यक्ष लोकेश कश्यप, जिला उपाध्यक्ष दीपक कश्यप, जिला महामंत्री अमित कश्यप आदि मौजूद रहे।