शहर में अनियोजित विकास कार्याे एवं समस्याओं पर हुई चर्चा

हरिद्वार। शहर की विभिन्न समस्याओं को लेकर समाजसेवी जेपी बड़ोनी, पंडित अधीर कौशिक, विनोद मिश्रा व सुनील प्रजापति ने चर्चा करते हुए अनियोजित विकास से उत्पन्न हो रही समस्याओं पर मंथन किया। इस दौरान समाजसेवी जेपी बड़ोनी ने कहा कि हरिद्वार विकास प्राधिकरण को हो रहे अनियोजित विकास कार्यो की सुध लेनी चाहिए। अधिकारी निर्माण कार्यो का मौके पर निरीक्षण नहीं करते हैं। जिससे लोगों को समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। कुंभ निर्माण कार्यों के साथ साथ नगर की विभिन्न योजनाओं के निर्माण एक साथ किए जाने से कई तरह की समस्याएं शहर में देखने को मिल रही हैं। एक साथ निर्माण कार्य कई विभागों द्वारा किए जा रहे हैं। अधिकारियों में आपसी समन्वय नहीं होने के कारण निर्माण कार्य भी प्रभावित हो रहे हैं। भूमिगत बिजली लाईन, रसोई गैस, सीवर लाईन के अलावा दूरसंचार विभाग भी तारों के कनेक्शन बिछाने का काम कर रहा है। जिसके चलते कई बार बड़ी समस्याएं शहर में उत्पन्न हो रही हैं। उन्होंने मांग की कि एचआरडीए के अधिकारियों व कर्मचारियों को अन्य विभागों के साथ समन्वय स्थापित कर विकास कार्यो को गति प्रदान करनी चाहिए। समाजसेवी पंडित अधीर कौशिक ने नाराजगी जताते हुए कहा कि अधिकारी निर्माण कार्यो की गुणवत्ता व मौके पर पहुंचकर निरीक्षण नहीं करते हैं। निर्माण कार्यों में लगे कर्मचारियों की कुशलता की भी जांच होनी चाहिए। उन्होंने राज्य की त्रिवेंद्र सरकार व स्थानीय सांसद डा.रमेश पोखरियाल निशंक से मांग की कि हाईवे निर्माण कार्य पूरा किया जाना जनहित में होगा। क्रांतिकारी मोर्चा के अध्यक्ष विनोद मिश्रा व सुनील प्रजापति ने कहा कि निर्माण कार्यो में हो रही अनियमितताओं को दूर करने के लिए शहरी विकास मंत्री एक कोर कमेटी गठित करें। जिससे निर्माण कार्यो में तेजी लायी जा सके। निर्माण कार्यो की गुणवत्ता भी बनी रहे। उन्होंने कहा कि शहर की जनता अब जनसमस्याओं से परेशान हो चुकी है। जिसका निस्तारण होना जनहित में जरूरी है।