संसार का आदि व अनंत भगवान शिव में ही समाहित-महंत प्रेमदास

हरिद्वार। श्री नीलेश्वर महादेव मंदिर के परमाध्यक्ष महंत प्रेमदास महाराज ने कहा कि शिव की महिमा का वर्णन करते हुए कहा कि भगवान शिव बहुत ही दयालु व कृपालु हैं जो भक्तों को मनवांछित फल प्रदान कर उनके कल्याण का मार्ग प्रशस्त करते हैं। जो श्रद्धालु भक्त भगवान शिव की शरण में आ जाता है उसका कल्याण निश्चित है। उन्होंने कहा कि भगवान शिव सृष्टि के सर्वशक्तिमान देव हैं। संसार का आदि व अनंत भगवान शिव में ही समाहित है। भगवान शिव की आराधना से मन में प्रेम का अंकुर प्रस्फुटित होता है। जो व्यक्ति का परमात्मा से साक्षात्कार करवाकर उसके कल्याण का मार्ग प्रशस्त करता है। भगवान ने कर्म करने के लिए ही व्यक्ति को धराधाम पर भेजा है। जिसकी प्रधानता से वह महान बनता है। नीलेश्वर महादेव की पूजा अर्चना कर विश्व कल्याण की कामना करते हुए महंत प्रेमदास महाराज ने कहा कि देवों के देव महादेव भक्तों की सूक्ष्म आराधना से ही प्रसन्न होकर उन्हें मनवांछित फल प्रदान करते हैं। उन्होंने कहा कि श्रावण मास भगवान शिव को समर्पित है। श्रावण मास के दौरान की गयी भगवान शिव की पूजा अर्चना करने से सहस्त्र गुणा पुण्य फल की प्राप्ति होती है।