कर्क संक्रांति के उपलक्ष्य में किया गया वृक्षारोपण अभियान प्रारम्भ

हरिद्वार। ऋषि संस्कृत महाविद्यालय खड़खड़ी, हरिद्वार में हरेला पर्व कर्क संक्रांति के उपलक्ष्य में वृक्षारोपण अभियान आरम्भ कर मनाया गया। इस मौके पर संस्थाध्यक्ष ऋषि रामकृष्ण जी महाराज, प्राचार्य डॉ. भारतनन्दन चैबे, डॉ. तारादत्त अवस्थी तथा छात्रों ने सामूहिक रूप से विद्यालय परिसर में फलदार एवं औषधीय वृक्षों का रोपण किया। इस अवसर पर ऋषि रामकृष्ण जी महाराज ने स्वस्थ जीवन जीने के लिये पर्यावरण संरक्षण को आवश्यक बताते हुए कहा कि वृक्षों का मानव जाति के जीवन में बहुत अधिक महत्व है। वृक्षों का अस्तित्व हमारे जीवन और जीवनशैली दोनों से जुड़ा है। प्रकृति ने हमें अनेक प्रकार के वृक्ष और जड़ी-बूटियां दी हैं, जो हमें प्राण वायु के रूप में आॅक्सीजन देते हैं। उन्होंने कार्यक्रम अधिकारी डॉ. तारादत्त अवस्थी को अभियान  के तहत गंगाजी के किनारे वृहद रूप में संस्था के सहयोग से वृक्षारोपण करने का निर्देश दिया। इस अवसर पर प्राचार्य डॉ. भारतनन्दन चैबे ने हरेला पर्व को पर्वतीय संस्कृति में दीर्घजीवन जीने के आशीर्वादात्मक प्रतीक पर्व बताते हुए कहा कि जैसे आज के दिन लगाया हुआ पौधा तीव्र गति से हरा-भरा होता हुआ पुष्पित-पल्लवित होता है। ठीक उसी प्रकार से मनुष्य जीवन भी नैरुज्य दीर्घायुष्य होकर सुखमय एवं समृद्ध हो ऐसी कामना की जाती है। दूसरी ओर यह प्रकृति प्रेम का भी संदेश देता है।